युद्ध में कौन से ब्रह्मास्त्रों को उतारेंगे भारत और चीन की सेना


कई दिनों से सिक्किम बॉडर्र पर भारत सेना और चीनी सेना के बीच कुछ खींचा तानी चल रही है। दोनो ही देशों की सेना एक-दूसरे पर हथियार तान कर खड़ी हुईं हैं। भारत और चीन के बीच काफी समय रिश्ते ठीक नहीं हैं। भारत ने तो चीन को युद्ध की भी चेतावनी दे दी है।

जिसकी वजह से दोनों देशों की सेना ने बॉडर्र पर एक-दूसरे को हथियार दिखा दिए हैं। चीन ने अपना अड़यिल रुख को कम नहीं किया जिसके कारण भारत की सेना ने सीमा पर अपनी तरफ से गतिविधियां तेज करी हुई हैं। चीन की मीडिया भी कम नहीं है वह यही दिखाए जा रहें हैं हम भारत को सबक जरूर सिखाएंगे।

बता दें कि भारत इस मामले को अपनी कूटनीति से खत्म करना चाहता है। लेकिन भारत और चीन की तरफ से हर रोज एक नया बयान आ जाता है। जिसकी वजह से यही बातें होती हैं कि भारत और चीन में जल्द ही युद्ध हो जाएगा। अगर युद्ध हुआ तो कौन सा देश किस पर कैसे भारी होगा इसी बात का सब अंदाजा लगा रहें हैं।

चलिए देखते हैं कि युद्ध में दोनों देश एक-दूसरे के सामने कौन से हथियारों को खड़ा करेंगे।

भारत और चीन की सेना की संख्या

 

बता दें कि चीन की सेना में 2335000 जवानों की संख्या है। इसमें पिपुल्स लिब्रेशन आर्मी ग्राउंड फोर्स की 1,600,000 सेना है। पीपुल्स लिब्रेशन आर्मी नेवी की संख्या 255,000 है और पीपुल्स लिब्रेशन आर्मी एयर फोर्स की संख्या 398,000 है। चीन के पास पीपुल्स लिब्रेशन आर्मी रॉकेट फोर्स के साथ स्ट्रेटजिक सपोर्ट फोर्स है। चीन की सेना दुनिया की सबसे बड़ी सेना है।

इंडियन आर्मी के पास 1325000 सेना है। भारत की सेना दुनिया में चौथे स्थान पर आती है। इसमें इंडियन आम्र्ड फार्स, इंडियन नेवी और इंडियन एयर फोर्र्स के जाबाज लड़ाके हैं।

भारत और चीन के  एयरक्राफ्ट

अगर एयरक्राफ्ट की बात करें, तो चीन के पास हमलावर 1385 एयरक्राफ्ट है। तो वहीं उसकी कुल एयरक्राफ्ट की संख्या 2955 है। तो वहीं भारत के पास अटैक करने वाली 809 एयरक्राफ्ट है। भारतीय एयरक्राफ्ट की कुल संख्या 2 हजार 102 है।

भारत और चीन के हेलीकॉप्टर

हेलीकॉप्टर के मामले में चीन के पास अटैक हेलीकॉप्टर 206 हैं। जबकि इसके पास ट्रांसपोर्ट की कुल संख्या 912 है। इसके मुकाबले भारत के पास हमलावर हेलीकॉप्टर 27 हैं। साथ ही ट्रांसपोर्ट की संख्या 666 है। टैंक की बात करें तो चीन के पास लगभग 6 हजार से अधिक तोपें है। तो वहीं भारत के पास कुल 4 हजार 426 टैंक मौजूद है।

भारत और चीन के मिसाइल

मिसाइल के मामले में चीन के पास लगभग 3 हजार क्रूज मिसाइल है। तो वहीं 13 हजार बैलेस्टिक मिसाइल मौजूद है। इसके मुकाबले भारत के पास क्रूज मिसाइल 400 है। और बैलेस्टिक मिसाइलों की कुल संख्या लगभग 5 हजार है।

परमाणु हथियार-

चीन के पास 250 से ज्यादा। भारत के पास लगभग 100 परमाणु मिसाइल है। वहीं चीन का रक्षा बजट 151 बिलियन डॉलर का है। तो भारत का 53.5 बिलियन डॉलर रक्षा बजट है।

भारत और चीन के सबमरीन

दोनों देशों की सबमरीन की बात करें तो चीन के पास 60 परंपरागत सबमरीन के अलावा 7 न्यूक्लियर सबमरीन मौजूद है। इस मुकाबले में भारत के पास 13 परंपरागत और 2 न्यूक्लियर सबमरीन है।

एयरक्राफ्ट कॅरियर के मामले में दोनों देश एक बाराबर है। जहां चीन और भारत की सेना के पास केवल 1 एयरक्राफ्ट कॅरियर मौजूद है।