NIA ने आतंकवादी गतिविधियों के मामले में जम्मू कश्मीर के विधायक शेख अब्दुल से की पूछताछ


जम्मू & कश्मीर के निर्दलीय विधायक शेख अब्दुल राशिद कश्मीर में आतंकवादी गतिविधियों के वित्त पोषण के एक मामले में पूछताछ के लिए राष्ट्रीय जांच एजेंसी के समक्ष आज पेश हुए।

राशिद इंजीनियर के नाम से पहचाने जाने वाले निर्दलीय विधायक मुख्यधारा के पहले नेता हैं जिन्हें इस मामले में एनआईए ने समन भेजा है। वह उत्तर कश्मीर में लंगाते विधानसभा सीट से निर्दलीय विधायक हैं। एनआईए मुख्यालय में फाइल और दस्तावेजों के साथ पहुंचे राशिद ने कहा कि उनके पास छिपाने के लिए कुछ नहीं है।

उन्होंने एनआईए कार्यालय में प्रवेश करने से पहले संवाददाताओं से कहा, मेरे नाम पर मीडिया ट्रायल शुरू होने के बाद मैंने जम्मू कश्मीर विधानसभा के अध्यक्ष से जांच शुरू करने और सच्चाई का पता करने के लिए कहा। विधायक ने कहा कि उन्हें न्यायिक प्रणाली में पूरा भरोसा है।

कारोबारी जहूर वाताली से पूछताछ के दौरान राशिद का नाम सामने आया। वाताली को एनआईए ने कश्मीर घाटी में आतंकवादी संगठनों और अलगाववादियों को धन मुहैया कराने के आरोप में गिरफ्तार किया था।

एनआईए अधिकारियों का कहना है कि पिछले 30 मई को उन अलगाववादी संगठनों और अलगाववादी नेताओं के खिलाफ मामला दर्ज कराया गया था जो हिज्बुल मुजाहिद्दीन, दख्तरान-ए-मिल्लत, लश्कर-ए-तैयबा जैसे आतंकवादी संगठनों के साथ सक्रिय रूप से जुड़े थे।

जांच एजेंसी ने प्राथमिकी में कहा कि हवाला समेत विभिन्न गैरकानूनी माध्यमों से धन जुटाने, जम्मू कश्मीर में अलगाववादी और आतंकवादी गतिविधियों के विथ पोषण और सुरक्षाबलों पर पथराव कर घाटी में अशांति पैदा करने, स्कूल जलाने, सार्वजनिक संपथि को नुकसान पहुंचाने और भारत के खिलाफ युद्ध छेडऩे का मामला दर्ज किया गया।

पाकिस्तान स्थित जमात-उद-दावा प्रमुख हाफिज सईद को प्राथमिकी में आरोपी नामजद किया गया है। प्राथमिकी में सैयद अली शाह गिलानी और मीरवाइज उमर फारूक के नेतृत्व वाले र्हुियत कांफ्रेंस के दो धड़ों और दख्तरान-ए-मिल्लत जैसे संगठनों को भी नामजद किया गया है।

एनआईए ने आतंकवादी गतिविधियों के कथित विथ पोषण के मामले के संबंध में अभी तक 10 लोगों को गिरफ्तार किया है। इस सूची में गिलानी का दामाद अल्ताफ शाह और वाताली भी शामिल है।

गिलानी के करीबी सहायक एयाज अकबर और पीर सैफुल्लाह को भी गिरफ्तार किया गया है। अकबर कट्टरपंथी अलगाववादी संगठन तहरीक-ए-र्हुियत का प्रवक्ता भी है।

हुर्रियत कांफ्रेंस के नरमपंथी धड़े का प्रवक्ता शाहिद-उल-इस्लाम, मेहराजुद्दीन कलवल, नईम खान, फारूक अहमद डार उर्फ बिट्टा कराटे , फोटो पत्रकार कामरान युसूफ और जावेद अहमद भट भी इस सूची में शामिल हैं।