आर्मी चीफ बिपिन रावत के मदरसों पर नियंत्रण वाले बयान पर भड़के जम्मू कश्मीर के शिक्षामंत्री


Altaf Bukhari

आर्मी चीफ जनरल बिपिन रावत द्वारा जम्मू-कश्मीर के सरकारी स्कूलों की शिक्षा प्रणाली पर सवाल उठाने के बाद राज्य सरकार के शिक्षा मंत्री अल्ताफ बुखारी ने सरकार की ओर से प्रतिक्रिया दी है।

आर्मी चीफ जनरल बिपिन रावत द्वारा जम्‍मू-कश्‍मीर के स्‍कूलों में छात्रों को राज्‍य के दो नक्‍शे के बारे में पढ़ाए जाने पर सवाल उठाए जाने पर जम्‍मू-कश्‍मीर के शिक्षा मंत्री अल्‍ताफ बुखारी ने कहा कि सेना प्रमुख अधिकारी हैं, अध्‍यापक नहीं। शिक्षा मंत्री ने कहा कि हमारे पास 2 झंडे, 2 संविधान और 2 नक्शे हैं और सेना प्रमुख को हमे ये बताने की जरूरत नहीं कि हमें कैसे पढ़ाना है।

जम्‍मू-कश्‍मीर के शिक्षा मंत्री अल्‍ताफ बुखारी ने कहा कि यह राज्य का विषय है और हम जानते हैं कि शिक्षा व्यवस्था को कैसे चलाना है। अल्‍ताफ बुखारी ने कहा कि हर स्कूल के पास राज्य का अपना नक्शा इसलिए है क्योंकि इसके बारे में वहां के छात्रों को पढ़ाना जरूरी है।

गौरतलब है कि इससे पूर्व सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने जम्मू-कश्मीर के सरकारी स्कूलों में शिक्षा प्रणाली पर सवाल उठाते हुए इसमें सुधार की जरूरत बताई थी।

इससे पहले , जनरल रावत ने सेना के वार्षिक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा था कि कश्मीर के सरकारी स्कूलों में गलत चीजें पढ़ाई जा रही हैं। वहां समस्या जड़ से है। सेना पर पत्थर फेंकने वाले इस विकृत शिक्षा प्रणाली की वजह से सामने आ रहे हैं। दुख की बात ये है कि जो अध्यापक पढ़ा रहे हैं वह भी इसी सिस्टम में पले-बढ़े हैं।

बिपिन ने सोशल मीडिया पर निशाना साधते हुए कहा कि जम्मू कश्मीर में सोशल मीडिया से बहुत नुकसान हो रहा है क्योंकि यह दुष्प्रचार का साधन बन गया है।

24X7 नई खबरों से अवगत रहने के लिए क्लिक करे।