कश्मीर : सेना और प्रदर्शनकारियों की झड़प, चार लड़‌कियां घायल


श्रीनगर : जम्मू कश्मीर के शोपियां जिले में सेना और प्रदर्शनकारियों की झड़प में चार लड़कियां घायल हो गयीं। आधिकारिक सूत्रों ने आज यह जानकारी दी कि सेना की ओर से शोपियां में‘इफ्तार पार्टी’आयोजित की गयी। इसे बाधित करने के लिए प्रदर्शनकारियों ने इस पर पथराव किया और प्रदर्शनकारियों को काबू में करने के लिए सेना ने कथित फायरिंग की जिसमें चार नाबालिग लड़कियां घायल हो गयीं। पुलिस के मुताबिक कुछ असामाजिक तत्वों ने सेना के गश्ती दल पर पथराव किया और‘इफ्तार’पार्टी को बाधित करने का प्रयास किया। कल शाम राष्ट्रीय राइफल्स (आरआर) की ओर से शोपियां के दार्दी कली पोरा गांव में एक मस्जिद के बाहर‘इफ्तार पार्टी’के लिए स्टॉल लगाया गया था। मस्जिद में रोजा खोलने के बाद स्थानीय लोगों ने सेना का विरोध किया और नारेबाजी शुरु कर दी। बाद में मस्जिद से लाउडस्पीकर के जरिए लोगों से आरआर द्वारा आयोजित इफ्तार पार्टी के विरोध में शामिल होने की अपील की जाने नगी।

इसके बाद प्रदर्शनकारियों ने सेना की ओर से आयोजित पार्टी को बाधित किया और पथराव शुरू कर दिया गया। इसके बाद सेना को प्रदर्शनकारियों पर काबू पाने के लिए गोलियां चलानी पड़ी और पैलेट गन का भी इस्तेमाल करना पड़ा जिसमें चार नाबालिग लड़कियां घायल हो गयीं। घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया जिनमें से एक को श्रीनगर रेफर कर दिया गया। चारों किशोरियों की स्थिति स्थिर बतायी जाती है।

पुलिस के अनुसार 34 आरआर का सेना गश्ती दल स्थानीय लोगों के सहयोग से कल आयोजित‘इफ्तार’में भाग लेने डी के पोरा गांव के जामिया मस्जिद में गया था। लेकिन‘इफ्तार’के दौरान असामाजिक तत्वों की भीड़ ने सेना गश्ती दल पर पथराव और अन्य चीजों से हमला कर दिया। सेना को हवाई फायरिंग करते हुए घटनास्थल से वापस जाना पड़। गोली लगने से घायल चारों किशोरियों को विभिन्न अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। पुलिस ने मामले का संज्ञान लेते हुए मामले की जांच शुरू कर दी है।

 

हमारी मुख्य खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें।