कश्मीर में पटरी पर लौटा जनजीवन


kashmir school close

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के बीच नौ अगस्त को हुई मुठभेड़ में आतंकवादी संगठन अल-कायदा के जाकिर मूसा नामक गुट के तीन आतंकवादियों के मारे जाने के बाद एक दिन चले विरोध-प्रदर्शनों के बाद आज जनजीवन पुन: पटरी पर लौट आया।

सोशल मीडिया पर अफवाहों को फैलने से रोकने के लिए एहतियात के तौर पर जिले में दो दिनों से बाधित मोबाइल सेवा को आज पुन: बहाल कर दिया गया हालांकि, मोबाइल इंटरनेट सेवाओं को आज लगातार तीसरे दिन भी निलंबित रखा गया।

पुलवामा में व्यापारिक एवं अन्य गतिविधियां भी पटरी पर लौट आयी हैं। सड़कों पर यातायात भी सामान्य रहा। सभी सरकारी कार्यालयों एवं बैंकों में कामकाज सामान्य हो गया है।

गौरतलब है कि पुलवामा जिले के त्राल में सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के बीच नौ अगस्त को हुई एक मुठभेड़ में तीन आतंकवादियों के मारे जाने के बाद कई लोग सड़कों पर उतर आये और प्रदर्शन करने लगे। सुरक्षाबलों ने घटनास्थल की ओर बढ़ रहे प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए लाठीचार्ज किया जिसका उन पर कोई असर नहीं हुआ।

प्रदर्शनकारियों को नियंत्रित करने के लिए सुरक्षाबलों को आंसू गैस के गोले दागने पड़े और पैलेट गन का इस्तेमाल करना पड़ा जिससे मोहम्मद युनूस नामक एक किशोर की मौत हो गयी थी।