पाक ने फिर किया सीजफायर उल्लंघन, भारतीय सेना ने दिया करारा जवाब


जम्मू : पाकिस्तानी सेना ने आज राजौरी और पुंछ सेक्टर में मोर्टार के गोले दागे और गोलीबारी करके संघर्षविराम का उल्लंघन किया जिसके बाद भारतीय सैनिकों ने कड़ी जवाबी कार्वाई की। रक्षा प्रवक्ता ने यह जानकारी दी। राजौरी के उपायुक्त शाहिद इकबाल चौधरी ने बताया कि अधिकारियों ने चेतावनी जारी की है और क्षेत्र के निवासियों को घर के अंदर रहने की सलाह दी है। इसके अलावा समन्वय के लिये क्षेत्रीय अधिकारियों को नियुक्त किया गया है।

Source

उन्होंने बताया कि पाकिस्तानी सेना की गोलीबारी से राजौरी और पुंछ सेक्टर के पंजग्रेन, राजधानी और नैका गांव की करीब 4,500-5,000 की आबादी प्रभावित हुयी है। रक्षा प्रवक्ता ने कहा, “पाकिस्तानी सेना ने नियंत्रण रेखा पर राजौरी एवं पुंछ सेक्टर के भीमबर गली में बगैर किसी उकसावे के सुबह करीब पौने सात बजे छोटे एवं स्वाचालित हथियारों से अधाधुंध गोलीबारी की और मोर्टार के गोले दागने शुरू कर दिये।” उन्होंने बताया कि भारतीय सैनिक पाकिस्तानी गोलीबारी का कड़ा जवाब दे रहे हैं।

उल्लेखनीय है कि जम्मू कश्मीर में नियंत्रण रेखा पर राजौरी, पुंछ और बारामुला जिले में कल पाकिस्तानी सेना की गोलीबारी एवं मोर्टार दागने से सेना के एक जवान और नौ साल की एक लड़की की मौत हो गयी थी, जबकि चार अन्य लोग घायल हो गये थे।

सेना ने की घुसपैठ नाकाम, एक आतंकवादी ढेर
सेना ने कश्मीर के गुरेज सेक्टर में नियंत्रण रेखा के पास आतंकवादियों की घुसपैठ की एक कोशिश को नाकाम करते हुए एक आतंकवादी को मार गिराया। रक्षा विभाग के एक प्रवक्ता ने उक्त जानकारी दी। प्रवक्ता ने कहा, मौके से हथियार बरामद किए गए हैं। इलाके में खोज अभियान जारी हैं।

 

अनंतनाग में हड़ताल के बाद जनजीवन प्रभावित
दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग जिले में कल रात सुरक्षाकर्मियों के साथ तीन आतंकवादियों के मारे जाने की घटना के विरोध में स्थानीय लोगों की ओर से की गई आम हड़ताल से जनजीवन बुरी तरह प्रभावित हुआ है। इस बीच ग्रीष्मकालीन अवकाश के बाद कल खुले शिक्षण संस्थानों को ऐहतियात के तौर पर किसी अप्रिय स्थिति से बचाने के लिये आज फिर से बंद कर दिया गया।

Source

रिपोर्ट के अनुसार इस क्षेत्र में सभी दुकानें और अन्य व्यावसायिक संस्थान बंद रहे तथा नगर में और बाहरी इलाकों में वाहनों की आवाजाही बन्द रही। सरकारी कार्यालयों और बैंकों का कामकाज भी इस कारण प्रभावित हुआ क्योंकि वाहनों की कमी से लोग कार्यालय नहीं पहुंच सके। कुछ स्थानों पर निजी वाहन चलते देखे जा रहे हैें। नुनवान बेस कैम्प तक पहुंचने के लिये अमरनाथ श्रद्धालुओं द्वारा प्रयोग में लाये जा रहे खानाबाल-पहलगाम मार्ग पर अतिरिक्त सुरक्षा बलों को तैनात कर दिया गया है। गौरतलब है कि अनंतनाग में कल रात लश्कर-ए-तैयबा के दो स्थानीय और एक विदेशी आतंकवादी की सुरक्षाकर्मियों के साथ मुठभेड़ में मौत हो गयी थी।