कश्मीर : रमजान खत्म होते ही सेना ने मारे 4 आतंकी, एक नागरिक की भी मौत


Jammu Kashmir

जम्मू -कश्मीर में रमजान का महीना खत्म होने का बाद भारतीय सेना एक बार फिर आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन ऑलआउट शुरू कर दिया है। सीजफायर के खत्म होने के अगले ही दिन दक्षिण कश्मीर के कुलगाम में एक अज्ञात बंदूकधारी ने 45 साल के एक शख्स को गोली मार दी। वहीं दूसरी तरफ बांदीपोरा में सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ के दौरान चार आतंकी को ढेर कर दिया है। सेना ने 12 जून को यहां पर ऑपरेशन शुरू किया था, जिसके बाद 14 जून को दो आतंकियों को मारा था। उसके बाद से ही यहां पर सर्च ऑपरेशन जारी है।

सोमवार को सुरक्षा बलों को बिजबेहारा इलाके में आतंकियों के मौजूद होने की खबर मिली। इसके बाद सुरक्षा बलों ने इलाके को घेर लिया और सर्च ऑपरेशन शुरू कर दिया। 16 मई को केंद्र सरकार ने कश्मीर में रमजान के महीने में शांति की पहल को बढ़ावा देने के लिए ऑपरेशन को निलंबित रखने का आदेश दिया था। ईद के बाद सरकार ने इसे हटा लिया है और सुरक्षाबलों को फिर से आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन ऑलआउट शुरू करने का निर्देश दिया है।

आतंकियों की मौजूदगी की सूचना मिलने के बाद सुरक्षाबलों ने बिजबेहारा में पहला ऑपरेशन शुरू किया। जहां रमजान के मौके पर सरकार ने सीजफायर पर रोक लेगा दी थी तो उस दौरान घाटी में 20 ग्रेनेड अटैक, 62 आतंकी हमले हुए। इसमें 41 लोगों की जान गई। यह जानकारी आधिकारिक सूत्रों ने दी है। हिंसा में हुई बढ़ोत्तरी ने सरकार को कार्रवाई करने के लिए मजबूर कर दिया है, जिसके बाद रविवार को केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह सीजफायर को आगे बढ़ाने से इनकार कर दिया।

उन्होंने ने कहा कि हमने पहल की लेकिन आतंकियों ने सुरक्षाबलों एवं नागरिकों पर हमले जारी रखे। गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने आतंकियों द्वारा जारी हिंसा के बीच रविवार को जम्मू एवं कश्मीर में घोषित एकतरफा संघर्षविराम को विस्तार न देने का फैसला किया है। यह संघर्षविराम रमजान के पाक महीने के दौरान राज्य में 16 मई को घोषित किया गया था। बता दें कि 17 मई से 14 जून के बीच जम्मू-कश्मीर में कुल 62 आतंकी घटनाएं हुईं।

अधिक लेटेस्ट खबरों के लिए यहाँ क्लिक  करें।