केजरीवाल सरकार पर दवा खरीद में 300 करोड़ के घोटाले का आरोप, ACB ने मारे छापे


नई दिल्ली : दिल्ली कैबिनेट के पूर्व मंत्री कपिल मिश्रा ने केजरीवाल सरकार पर दिल्ली सरकार की ओर से 300 करोड़ रुपये की एक्सपायरी दवाएं खरीदने और घोटाले का आरोप लगाया था, उसके तहत आज ACB ने छापेमारी की है। कपिल मिश्रा का आरोप है कि दवाइयों और एंबुलेंस की खरीद के साथ अधिकारियों के तबादले में भी घोटाला किया गया, जो दवाएं अस्पतालों में भेजनी चाहिए थी, वो गोदामों में सड़ रही हैं।भ्रष्टाचार निरोधक शाखा (एसीबी) के सूत्रों ने बताया कि जांच के आदेश दे दिए गए हैं और विभिन्न स्थानों पर तलाशी ली जा रही है। एसीबी, दिल्ली सरकार से दवाओं की खरीद से जुड़ी जानकारी मांग सकती है।

मिश्रा ने दावा किया कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन के कहने पर दिल्ली सरकार द्वारा संचालित अस्पतालों के दवाओं की खरीद के अधिकार को खत्म कर दिया था। उन्होंने आरोप लगाया, ”जैन ने खुद यह स्वीकार किया है कि दवाओं की खरीद के लिए 300 करोड़ रूपये आवंटित किए गए थे। दिल्ली सरकार तो कहती है कि स्वास्थ्य क्षेत्र के लिए उसने सबसे ज्यादा बजट रखा है तो फिर ऐसे में दवाओं की कमी कैसे हो गई? यह एक घोटाला है। वहीं, आम आदमी पार्टी के नेता मामले को लेकर आज  प्रेस कांफ्रेंस बुलाई है। इस दौरान आप नेताओं की ओर से दिल्ली सरकार का पक्ष रखा जाएगा।