कोविंद कल से तेलंगाना, आंध्र प्रदेश और कर्नाटक दौरे पर


राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद राष्ट्रपति पद के लिए कल तेलंगाना, आंध्र प्रदेश और कर्नाटक के दौरे पर जाएंगे। उसके बाद कोविंद पूर्वोत्तर और मध्यप्रदेश का रुख करेंगे। भाजपा के महासचिव भूपेंद्र यादव ने संवाददाताओं को बताया कि कोविंद कल हैदराबाद जाएंगे और वहां तेलंगाना राष्ट्र समिति, तेलुगु देशम पार्टी (तेदेपा) के सदस्यों से समर्थन मांगेंगे।

अगले दिन दोपहर में वह विजयवाड़ा जायेंगे, जहां सत्तारुढ़ तेदेपा राजग का अंग होने के नाते उनका समर्थन कर रही है और साथ ही वाईएसआर कांग्रेस ने उनका समर्थन किया है। भूपेंद्र के अनुसार दोनों राज्यों में कोविंद के साथ केंद्र सरकार की ओर से मंत्री एम. वेंकैया नायडु, पार्टी महासचिव मुरलीधर राव, सांसद एल. गणेशन एवं अमर शामिल होंगे। वित्त एवं रक्षा मंत्री अरुण जेटली भी इस दौरे में उनके साथ रहने की संभावना हैं।

उन्होंने बताया कि 5 जुलाई को कोविंद कर्नाटक जाएंगे जहां भाजपा के अलावा कुछ निर्दलीय सांसद उनका समर्थन कर रहे हैं। कर्नाटक दौरे में उनके साथ केन्द्रीय मंत्री थावरचंद गहलोत, पार्टी महासचिव सरोज पांडे, सांसद शमशेर सिंह एवं भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चा के प्रमुख विनोद सोनकर होंगे।

भूपेंद्र ने बताया कि कोविंद 6 जुलाई को गुवाहाटी के रास्ते अरुणाचल प्रदेश में समर्थन के लिए जायेंगे। कोविंद रात्रिविश्राम गुवाहाटी में करेंगे। अगले दिन वह गुवाहाटी में ही मेघालय, मित्रोरम एवं त्रिपुरा के कुछ सदस्यों से मिलेंगे। 7 जुलाई को वह नागालैण्ड और मणिपुर जायेंगे। पूर्वोत्तर की इस यात्रा में उनके साथ केन्द्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, पार्टी महासचिव राम माधव, लोकसभा में भाजपा के मुख्य सचेतक राकेश सिंह और सांसद रामविचार नेताम रहेंगे।

उन्होंने बताया कि 8 जुलाई को कोविंद मध्यप्रदेश की यात्रा करेंगे। केन्द्रीय मंत्री सुषमा स्वराज, पार्टी उपाध्यक्ष विनय सहह्मबुद्धे, सांसद विनोद चावड़ा एवं पी.सी.मोहन उनके साथ मौजूद रहेंगे। भूपेंद्र यादव ने कहा कि राष्ट्रपति चुनाव में कोविंद की जीत के लिए कुल मतों का कम से कम 70 प्रतिशत हासिल करने का लक्ष्य है और उन्हें उम्मीद है कि वह इससे अधिक वोट हासिल करेंगे।

उन्होंने बताया कि राज्यसभा के छह निर्दलीय सांसदों ने भी कोविंद को वोट देने का वचन दिया है, जिनमें राजीव चंद्रशेखर, परिमल नाथवानी, सुभाष चंद्रा, सदानंद काकड़े और ए. वी. स्वामी शामिल हैं। राजग के दलों के अलावा कोविंद को जनता दल यूनाइटेड, बीजू जनता दल, तेलंगाना राष्ट्र समिति, वाईएसआर कांग्रेस, अन्नाद्रमुक के दोनों गुट तथा इंडियन नेशनल लोकदल ने समर्थन देने का ऐलान किया है।