रायपुर के केंद्रीय विद्यालय की एक टीचर ने रेप जैसी घटनाओं पर विवादित बयान दिया गया है। टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक टीचर ने कहा है कि लड़कियां, लड़कों के सामने छोटे कपड़े पहनती हैं जिस कारण से ही उनके साथ रेप जैसी दुर्घटनाएं होती हैं। टीचर ने इस तरह की बातें स्कूल की लड़कियों से एक काउंसलिंग सेशन में कही हैं। इस अध्यापिका का नाम स्नेहलता शंखवार बताया जा रहा है।

रिपोर्ट के मुताबिक, आरोपी टीचर जब बच्चों की काउंसलिंग कर रही थी तब क्लास 9वीं और 11वीं की छात्राओं ने उसका चुपके से एक ऑडियो टेप रिकॉर्ड कर लिया। टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट में दावा किया गया है कि इस ऑडियो टेप में टीचर ने लड़कियों को जींस न पहनने और लिपस्टिक न लगाने की चेतावनी दी थी।

टीचर ने कहा कि लड़कियां अपनी बॉडी को सिर्फ उस समय प्रदर्शित करती हैं, जब उनके पास सुंदर चेहरा नहीं होता। लड़कियां दिन-ब-दिन बेशर्म होती जा रही हैं। उसने कहा कि क्यों निर्भया इतनी रात को एक लड़के के साथ बाहर गई जो कि उसका पति नहीं था?

साथ ही उसने कहा कि निर्भया की मां को उसे रात में बाहर नहीं जाने देना चाहिए था। दिन लड़कियों के साथ ऐसी घटनाएं होती है वे श्रापित होती हैं और यह उनके लिए एक सजा है।

छात्राओं ने अपने अभिभावकों को टीचर की दी गई विवादित नसीहत के बारे में बताया तो वो नाराज हो गए। अभिभावकों ने सोमवार को स्कूल पहुंचकर प्रिंसिपल भगवान दास अहीरे से आरोपी टीचर स्नेहा शंखवार की शिकायत की।

प्रिंसिपल ने माना कि छात्राओं ने उन्हें बिना नाम वाली चिट्ठी भेजकर इसकी शिकायत की थी। चिट्ठी में कहा गया है कि स्नेहा शंखवार क्लास में ‘भड़काऊ कपड़ों और रात में बाहर घूमने’ को लेकर बातें बोलती हैं जिससे छात्राएं असहज महसूस करती हैं। प्रिंसिपल ने कहा कि उन्हें यह किसी की शरारत लगी जिससे उन्हें इसे मजाक के तौर पर लिया।

अधिक लेटेस्ट खबरों के लिए यहां क्लिक  करें।