वृद्ध माता-पिता की उपेक्षा करने वालों की होगी काउन्सलिंग


वर्तमान में जिस तरह से वृद्ध माता-पिता को संतानों के द्वारा दरकिनार करउपेक्षा की जा रही है उसकी कारगर रोकथाम के लिए परिवार परामर्श केन्द्र को आगे आकर इस सामाजिक बुराई को समाप्त करने में अपना महत्वपूर्ण योगदान देना चाहिए। उक्त बात शिवपुरी जिले के पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार पाण्डे ने पुलिस परिवार परामर्श केन्द्र के सदस्यों की एक समीक्षा में बैठक में कहीं। उन्होंने कहा कि शिवपुरी के परिवार परामर्श केन्द्र में जिस तरीके से बिछड़े हुए दम्पत्तियों को मिलाने और टूटते हुए परिवार को बचाने में जो उल्लेखनीय कार्य किया जा रहा है व न केवल अनुकरणीय है बल्कि सारे प्रदेश में शिवपुरी जिले का नाम गौरवान्वित भी किया है।

निश्चित रूप से इससमीक्षा बैठक में उन्होंने सभी सदस्यों के साथ उनके अनुभवों को साझा किया और अपनीओर से परामर्श की बेहतरी के लिए आवश्यक गुर भी बताए। उन्होंने इससे संबंधित कानूनी पहलूओं और धाराओं के बारे में भी विस्तार से सदस्यों को समझाईश दी और कहा किन्यायालयीन सहायता के लिए वे पीडि़त को जिला विधिक सहायता केन्द्र के माध्यम सेसहायता भी उपलब्ध करायें। उन्होंने परिवार परामर्श केन्द्र के सभी सदस्यों कोबुजुर्गों को परेशान करने वाले परिवारजनों की भी काउन्सलिंग करके अपने माता-पिताकी सेवा करने, साथ रखने और उचितदेखभाल करने के लिए काउन्सलिंग करने हेतु निर्देशित किया।

प्रारंभ में जिलापरिवार परामर्श केन्द्र के संयोजक आलोक एम इंदौरिया ने इस समीक्षा बैठक में अब तककी गतिविधियों के बारे में प्रकाश डाला और कहा कि जिला परिवार परामर्श केन्द्र में प्रदेश नहीं बल्कि सारे देश में इतने अल्प समय में अपने अच्छे कार्यों के कारण जोख्याति प्राप्त की है उसमें इसके सदस्यों के योगदान के साथ-साथ आईजी ग्वालियर जोनअनिल कुमार, पुलिस अधीक्षक,अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक और प्रभारी डीएसपीमहिला सैल एवं उनके स्टाफ का अथक सहयोग और योगदान रहा है। उन्होंने इस सदंर्भ मेंआने वाली कई व्यवहारिक परेशानियों से पुलिस अधीक्षक के अवगत कराया।

जिस पर पुलिस अधीक्षक ने तत्काल मौके पर ही निराकरण किया। इस अवसर पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक औरपरामर्श केन्द्र के विशेष सहयोगी कमल मौर्य ने जिला पुलिस बल की ओर से सभी सदस्योंको शुभकामनायें देते हुए कहा कि शिवपुरी के परिवार परामर्श केन्द्र निश्चित रूप से इस जिले का नाम मध्य प्रदेश ही नहीं सारे देशमें सर्वोच्च स्थान पर लाया है इसकेलिए सभी सदस्य बधाई के पात्र हैं। उन्होंने परामर्श हेतु सदस्यों को अपनी ओर से कुछ उपयोगी और व्यवहारिक सुझाव देते हुए कहा कि जिन जोड़ों को परामर्श के द्वाराआप मिला रहे हैं उन्हें उनके माता-पिता की सेवा करने हेतु भी संकल्प दिलाया जाए।

अतिथिद्वय ने सदस्यों के द्वारा पूछे गए प्रश्नों का उत्तर देकर उनकी शंकाओं कासमाधान भी किया। इस अवसर पर जिला पुलिस अधीक्षक के द्वारा महिला सैल के समस्तपुलिस कर्मियों का पुष्प गुच्छ के द्वारा सम्मानित कर उन्हें और वेहतर कार्य करनेके लिए प्रेरित किया गया। शिवपुरी जिले के इतिहास में संभवत: यह पहला अवसर था। जबकिसी पुलिस अधीक्षक ने अपनी ओर से निचले पुलिस कर्मियों का मनोबल इस तरह से बढ़ाया हो।

इस अवसर पर टीआई कोतवाली संजय मिश्रा, आरआई अरविन्द सिकरवार, जिला परिवारपरामर्श केन्द्र की उमा मिश्रा, स्नेहलता,किरण ठाकुर, श्वेता गंगवाल, रवजोत ओझा, आकला कुर्रेशी,नीरजा खण्डेलवाल, प्रीति जैन, बिन्दु छिब्बर,मृदुला राठी, आनंदिता गांधी, भरत अग्रवाल, सुरेश जैन,शंभू पाठक, राहुल गंगवाल, राकेश शर्मा, गोड़ल जी,डॉ. इकबाल खांन, राजेन्द्र राठौर, संतोष शिवहरे, डॉ. विजय खन्ना,राजेश गुप्ता रामू, एचएस चौहान, समीर गांधीउपस्थित थे।