करोड़ों का चूना लगाने वाले पुलिस रिमांड पर


जबलपुर: मध्यप्रदेश के जबलपुर में खुफिया ब्यूरो (आईबी) के फर्जी अधिकारी बनकर एक बाइक शो-रूम संचालक को करोड़ों रुपए का चूना लगाने वाले आरोपियों को अदालत ने दो दिन की पुलिस रिमांड पर भेज दिया है। ओमती थाना पुलिस सूत्रों ने बताया कि स्थानीय एक मोटर शोरूम संचालक करन ङ्क्षसह कोहली ने शुक्रवार शाम इस बारे में शिकायत दर्ज करवाते हुए बताया कि जनवरी माह में दिनेश कुमार अंकर नाम का व्यक्ति अपने दो साथियों हरिचरण भारद्वाज तथा शक्ति ङ्क्षसह के साथ उसके शो रूम में आया, वहीं एक व्यक्ति शो-रूम के बाहर सुरक्षा कर्मी बनकर खड़ा रहा। तीनों ने अपना परिचय आईबी अधिकारियों के रूम में दिया।

इसके अलावा उन्होंने यह भी जानकारी दी कि आईबी पूरे विभाग में अपने कर्मचारियों के लिए दो पहिया वाहनों की खरीदी कर रहा है। उन्हें इसके तहत जबलपुर जोन के लिए वाहनों की खरीदी करनी है। संचालक ने बताया कि पहले उन्होंने लगभग दस वाहनों की खरीदी कर उसका भुगतान किया। उसके बाद लगातार दो पहिया वाहन खरीदे और गांरटी के तौर पर चेक दिये।

उन्होंने किस्तों में एक से लेकर 20 वाहन तक उठाये और बताया कि सभी वाहनों का भुगतान आईबी द्वारा डीडी से किया जाएगा। डीडी नहीं आने पर उन्हें सूचित कर बैंक में चेक लगाये तो वे बाउंस होने लगे। चैक बाउंस होने की निर्धारित समय सीमा समाप्त होने वाली थी, इसलिए शुक्रवार की शाम उन्होंने पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई। बताया जा रहा है कि 135 वाहन करीब एक करोड़ रुपये के थे। पुलिस ने जांच में पाया कि आरोपियों ने आईबी अधिकारी होने का झांसा देकर शो-रूम संचालक को चूना लगाया है।

आरोपी दो-तीन चारपहिया वाहनों से शो-रूम में पहुंचते थे। पुलिस ने सिवनी निवासी हरिचरण भारद्वाज तथा शक्ति ङ्क्षसह को गिरफ्तार कर कल न्यायालय में पेश किया, जहां से पुलिस को पूछताछ के लिए आरोपियों का दो दिन का रिमांड मिला है। मुख्य आरोपी दिनेश कुमार अंकर फरार है, जिसकी तलाश जारी है।