दिव्यांगों को नहीं मिल रही बस किराए में छूट


श्योपुर: मध्यप्रदेश शासन द्वारा दिव्यांगों को राहत प्रदान करने की दृष्टि से उन्हें बस व लग्जरी बसों के किराये में 50 प्रतिशत की छूट देने का निर्णय लिया गया है लेकिन बस ऑपरेटरों की मनमानी से दिव्यांगजनों को भारी परेशानियों से गुजरना पड़ रहा है। इसी समस्या को देखते हुए भारत रक्षा मंच श्योपुर ने एक ज्ञापन देते हुए दिव्यांगों को उक्त सुविधा प्रदान करने की मांग की है।

प्रेस को जानकारी देते हुए मंच के जिलाध्यक्ष ने बताया कि परिवहन मंत्रालय मप्र शासन द्वारा एक पत्र जारी कर सभी परिवहन कार्यालयों में पदस्थ अधिकारियों को निर्देश दिये कि 02 जुलाई से प्रदेश के सभी जिलों में लग्जरी बसों सहित सभी बसों में दिव्यांगों को 50 प्रतिशत किराया छूट देना होगा।

साथ ही इस हेतु सभी परिवहन अधिकारियों द्वारा बस ऑपरेटरों को भी आदेश के पालन करने के निर्देश जारी कर दिये गये तथा निर्देश के पालन नहीं करने की दशा में परमिट निरस्त करने तक की चेतावनी दी गई। इसके बावजूद बस ऑपरेटर नियमों का पालन नहीं कर रहे।

मंच ने ज्ञापन में यह भी बताया कि अभी फिलहाल एमएस बस में यात्रा करने के लिए किशन खंडेलवाल और इनके जैसे कई अन्य लोगों ने बसों में सफर किया और उनसे किराये में छूट की मांग की तो बस ऑपरेटरों ने छूट देने से साफ इंकार कर दिया जो शासन के आदेश की अवहेलना है। भारत रक्षा मंच ने ज्ञापन के माध्यम से जिला प्रशासन से मांग की है कि जिले में भी सभी दिव्यांगों को इस व्यवस्था का लाभ प्रदान किया जाये,ताकि दिव्यांगों को सुविधाएं मिल सके। मांग करने वालों में जिलाध्यक्ष विकास दुबे सहित डॉ. भारत भूषण, संजय अकोदिया, नमन सिंहल, गोलू शिवहरे, लवकुश मीणा,विष्णु गुप्ता, विकास पारेता, हरिशंकर दुबे आदि शामिल है।