अंडमान में आए भूकंप के झटके गुना में दर्ज


Earthquake

गुना: अंडमान-निकोबार द्वीप समूह पर आए भूकंप के झटके पहली बार मध्यप्रदेश के गुना में दर्ज हुए। इन दूरस्थ द्वीपों पर आए भूकंप की सूचना जिला कलेक्टर राजेश जैन के मोबाइल पर संदेश के माध्यम से मिली। दरअसल देश में भू-गर्भीय हलचल का हाल जानने के लिए गुना में वेधशाला स्थापित की गई है, जिसके चलते अब देश के किसी भी हिस्से में होने वाली भू-गर्भीय हलचल का गुना में पता चल जाएगा।

सूत्रों के मुताबिक पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के अधिकारी गत सप्ताह गुना आए थे, जिन्होंने कलेक्टर श्री जैन से वेधशाला के लिए भूमि आवंटन की मांग की थी। कलेक्टर ने कलेक्ट्रेट की ट्रेजरी में उन्हें कक्ष आवंटित कर दिया, जहां भू-गर्भीय हलचल दर्ज करने के लिए यंत्र लगाए हैं। जमीन में गहरा गड्ढा खोदकर इन्हें लगाया गया है, जिसके बाद यह कक्ष बंद कर दिया गया है। यह सेंसर के माध्यम से भू-गर्भीय हलचल दर्ज करेगा।

मध्यप्रदेश के दो जगहों पर वेधशाला बनाने की बात सामने आई गई है। वेधशाला राष्ट्रीय भूकम्प विज्ञान केंद्र नई दिल्ली के नियंत्रण में रहेगी। उन्होंने बताया कि गुना के भूकंप की दृष्टि से सबसे सुरक्षित जोन में आने और यहां से भू-गर्भीय हलचलों पर नजर रखना आसान होने की वजह से वेधशाला बनाई गई है। स्वचालित भूकंपमापी यंत्र धरती के अंदर होने वाली सूक्ष्म हलचलों को भी रिकार्ड कर वी-सेट के माध्यम से मौसम विज्ञान केंद्र दिल्ली और हैदराबाद के पास पहुंचा देता है।

(वार्ता)