MP में किसान ने की आत्महत्या,10 दिनों में संख्या हुई 12


भोपाल : मध्यप्रदेश में कर्ज माफी को लेकर कई दिनों से चल रहे किसान आंदोलन के दौरान कई किसानों ने आत्महत्या की थी, वैसी ही एक और वारदात सामने आई हैं जिसमें कर्ज से परेशान एक किसान ने कीटनाशक पीकर आत्महत्या कर ली है। जिसके बाद मध्यप्रदेश में पिछले 10 दिनों में आत्महत्या करने वाले किसानों की संख्या बढ़कर 12 हो गई है।

इस किसान ने कल धार जिले में आत्महत्या की। धार से मिली रिपोर्ट के अनुसार, जिले के बाग थाने के ग्राम रामपुरा निवासी जगदीश मोरी (40) ने कर्ज से परेशान होकर कीटनाशक पीकर आत्महत्या कर ली। मृतक के परिवार का आरोप है कि कर्ज से परेशान होकर मोरी ने आत्महत्या की है। उन्होंने बताया कि मृतक जगदीश के पिता के नाम से जमीन है और उस पर बैंक का कर्ज था। कर्ज नहीं चुका पाने से परेशान होकर उसने कल दोपहर में कीटनाशक पी लिया, जिससे उसकी मौत हो गई।

हालांकि, पुलिस इस मामले को पारिवारिक विवाद बता रही है। धार के पुलिस अधीक्षक बीरेंद्र सिंह ने बताया कि मृतक जगदीश के नाम से कोई जमीन नहीं थी। वह शराब का आदी था तथा कल परिवार में विवाद भी हुआ था। मंदसौर जिले में 6 मई को किसान आंदोलन के दौरान पुलिस गोलीबारी में पांच किसानों के मारे जाने के बाद प्रदेश सरकार ने किसानों के हित में कई घोषणाएं की है।

इससे पहले 8 जून से लेकर 15 जून तक 11 अन्य किसानों ने भी मध्यप्रदेश के विभिन्न भागों में कर्ज से परेशान होकर आत्महत्या की है। जिन 12 किसानों ने आत्यहत्या की है, उनमें मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के गृह जिले सीहोर के सबसे ज्यादा 4 किसान हैं, जबकि होशंगाबाद जिले के दो किसान हैं और विदिशा, रायसेन, बालाघाट, बड़वानी, धार एवं शिवपुरी जिले के एक-एक किसान शामिल हैं।