व्यापारी हित में है जीएसटी


शिवपुरी: जीएसटी (गुड सर्विस टैक्स) को लेकर असमंजस में न पड़ें, यह व्यापारियों के हितों के लिए है, अपने व्यवसाय का कुछ हिस्सा सरकार को कर के रूप में प्रदान कर देश के विकास में व्यापारी अपना अमूल्य योगदान देते हैं इसलिए जीएसटी पंजीयन कराएं और पंजीयन कराने के बाद अपने कारोबार करें, ध्यान रहे बिना जीएसटी के कारोबार करना अपराध है इससे बचें और जीएसटी के लागू होने के बाद अपने कारोबार और व्यापार को करें।

उक्त बात कही कर सलाहकार संघ के अध्यक्ष एड.राजेन्द्र कुमार अग्रवाल ने जो स्थानीय नारियल बिल्डिंग पर किराना व्यापार संघ अध्यक्ष एवं व्यापार संघ के जिलाध्यक्ष भरत अग्रवाल (नारियल वाले) द्वारा जीएसटी को लेकर आयोजित जागरूकता अभियान में जीएसटी को लेकर भ्रामक जानकारियों से बचाव करते हुए महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान कर रहे थे।

यहां व्यापारियों का मार्गदर्शन प्रभारी वाणिज्यकर अधिकारी सुश्री जया शर्मा द्वारा किया गया जिन्होंने व्यापारी हितों को लेकर जीएसटी की पारदर्शिता को बड़ी बारीकी से बताया। इसके अलावा जागरूकता अभियान में विशिष्ट अतिथि की आसंदी से मानव अधिकार आयोग के जिला संयोजक आलोक एम.इन्दौरिया भी मौजूद रहे जिन्होंने व्यापारी संघ द्वार आयोजित जागरूकता अभियान की प्रशंसा की और इस जीएसटी कार्यक्रम को व्यापारी हित में बताया।

कार्यक्रम में इंस्पेक्टर सौरभ कुशवाह के अलावा एड.सौरभ मित्तल व अध्यक्षता किराना व्यापार संघ के अध्यक्ष भरत अग्रवाल ने की। इस जागरूकता अभियान में जीएसटी को लेकर व्यापारियों ने कई तीखे सवाल वाणिज्यकर विभाग एवं कर-सलाहकर से संबंधित एडवोकेटों से कि जिनके जवाब बड़ी आसानी से दिए गए और कई शंकाओं को इस कार्यक्रम के माध्यम से दूर  किया गया।

व्यापारी संघ के इस जीएसटी जागरूकता अभियान कार्यक्रम में कैमिस्ट एसो.अध्यक्ष कैलाश अग्रवाल, कपड़ा व्यापार संघ अध्यक्ष विशाल भसीन, किराना व्यापार संघ अध्यक्ष विजय पारख सहित अन्य व्यापारी व आमजन मौजूद थे। आभार विजय जैन पारख द्वारा व्यक्त किया गया।