देश में सूख रही नदियों पर जताई मोदी ने चिंता


अमरकंटक (मप्र) : प्रधानमंत्री निरेन्द्र मोदी ने आज देश में सूख रही नदियों पर गहरी चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि नक्शे में देश की कई नदियां है, लेकिन इनमें पानी नहीं है। यहां 148 दिनों तक चली ‘नमामि देवी नर्मदे सेवा यात्रा’ के समापन समारोह को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा, ”हिन्दुस्तान में कई नदियां हैं लेकिन पानी का कोई नामोनिशान ही नहीं है। उन्होंने कहा, ” केरल में एक नदी है जिसका नाम ‘भारत पूजा’ है। केरल की यह नदी बचेगी कि नहीं बचेगी, यह चिंता का विषय हैं। नर्मदा नदी के संरक्षण के लिए समय रहते सजग होने की तारीफ करते हुए मोदी ने कहा कि मध्यप्रदेश सरकार द्वारा नर्मदा संरक्षण के लिए आज जारी रोडमैप (नर्मदा प्रवाह पुस्तक) भविष्य के विजन के लिए ‘परफेक्ट डॉक्युमेंट’ है।

उन्होंने मध्यप्रदेश सरकार से कहा है कि वह इसे देश के अन्य राज्यों को भी साझा करे, ताकि वे भी अपने-अपने राज्यों में नदियों के संरक्षण के लिए ऐसी ही पहल शुरू कर सकें। मोदी ने कहा, इस डॉक्युमेंट को मैंने पूरी तरह से पढ़ा है। इसमें वह सभी ब्योरे दिये गये हैं, जिन-जिन कामों को किया जाना है, किसके द्वारा किया जाना है और किस समय तक किया जाना है। इस यात्रा को शुरू करने के लिए प्रदेश की जनता एवं विशेष रूप से चौहान को बधाई देते हुए उन्होंने कहा, इस अभियान में 25 लाख से अधिक लोग शामिल हुए हैं। नर्मदा संरक्षण का अभियान चलाकर मध्यप्रदेश ने नदी, मानवता एवं पर्यावरण की रक्षा के लिए बहुत बड़ा काम किया है। मोदी ने कहा, ”गुजरात के लोग पानी की एक-एक बूंद के महत्व को जानते हैं। मैं गुजरात, राजस्थान एवं महाराष्ट्र के नागरिकों की ओर से इस अभियान को चलाने के लिए मुख्यमंत्री चौहान एवं मध्यप्रदेश की जनता का अभिनंदन करता हूंं।