म.प्र. निवेश का आदर्श स्थल है


भोपाल: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से चीनी प्रतिनिधिमंडल ने मुख्यमंत्री निवास पर भेंट की। इस अवसर पर गुआंग्शी विकास और सुधार आयोग के महानिदेशक फांगकांग हुआंग और प्रमुख सचिव उद्योग मोहम्मद सुलेमान मौजूद थे। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि पूरे देश में एक कराधान व्यवस्था से देश की हृदयस्थली में बसे मध्यप्रदेश में लॉजिस्टिक हब बनने की संभावनाएं प्रबल हुई हैं। इससे निवेश और व्यापार की और अधिक बेहतर संभावनाएँ निर्मित होगी। उन्होंने प्रतिनिधिमंडल से इस परिप्रेक्ष्य में निवेश की संभावना को तलाशने के लिए कहा।

मुख्यमंत्री ने चीनी प्रतिनिधिमंडल से कहा कि मध्यप्रदेश निवेश का आदर्श स्थल है। यहां निवेश मित्र वातावरण और नीतियां हैं। निवेश हेतु आवश्यक सूचनाएं उपलब्ध करवाने में उन्हें पूरा सहयोग किया जायेगा। सरकार निवेशकों का सदैव सहयोग करती है, भविष्य में भी करेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि चीन यात्रा में उनके द्वारा दिए गए आमंत्रण पर चीनी प्रतिनिधिमंडल के आने से वे प्रसन्न हैं।

उन्होंने आशा व्यक्त करते हुए कहा कि इस यात्रा से दुनिया के दो प्राचीन महान राष्ट्रों के मध्य पारस्परिक व्यापारिक संभावना को विस्तार मिलेगा और उनके मध्य निकटता बढ़ेगी। उन्होंने कहा कि पीथमपुर में चीनी कंपनी लिउगोंग मशीनरी कंपनी लिमिटेड को सरकार का पूरा सहयोग मिला है। नये निवेशकों को भी उसी तरह पूरा सहयोग दिया जायेगा।

इस बीच प्रतिनिधिमंडल द्वारा बताया गया कि प्रदेश में स्थापित औद्योगिक इकाई द्वारा स्थानीय स्तर पर रोजगार उपलब्ध करवाया गया है। उत्पाद भारतीय बाजार के साथ ही अन्य देशों को निर्यात भी किये जा रहे हैं। प्रतिनिधिमंडल में नैननिंग विकास और सुधार आयोग के निदेशक वी डिंग, गुआंग्शी विकास और सुधार आयोग के हाईटेक उद्योग प्रभाग निदेशक यी झोंग, विदेशी पूंजी उपयोग और विदेशी निवेश प्रभाग निदेशक तियानचेंग वू, औद्योगिक अर्थव्यवस्था प्रभाग निदेशक यीचुआन ली, पश्चिमी क्षेत्र विकास प्रभाग उप निदेशक सुयू तन, प्रबंध निदेशक लिउगोंग इंडिया वू सांग और ट्रायफेक के अपर प्रबंध संचालक वी. किरण गोपाल उपस्थित थे।