नायडू द्वारा कर्जमाफी को फैशन बताने पर कांग्रेस का पलटवार


भोपाल: मध्यप्रदेश में किसान आंदोलन की आग अभी तक ठीक ढंग से बुझी भी नहीं थी कि भाजपा नेताओं के बेबाक बयानों से एक बार फिर सरकार घिरती नजर आ रही है। केन्द्रीय मंत्री वैकेया नायडू द्वारा कर्ज माफी को ‘फैशन’ बताने के मुद्दे पर कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव और राउ विधायक जीतू पटवारी ने पलटवार करते हुए कहा कि भाजपा में बेशर्मी और बेरहमी की कोई सीमा नहीं है। उन्होंने कहा कि ऐसे बयानों से भाजपा नेता किसानों के जख्मों पर गर्म नमक डाल रहे हैं।

कांग्रेस नेता जीतू पटवारी ने उनके इस बयान पर कानून बनाने की बात करते हुए कहा कि वैकेया नायडू के अनुसार ‘कर्जमाफी फैशन है’…और किसानों की मौत? शायद वो भाजपा के लिए मनोरंजन होगी? अब बेशर्म बयानों पर भी कोई कानून बने। गौरतलब है कि केन्द्रीय मंत्री नायडू ने कल गुरुवार को कर्जमाफी को लेकर बड़ी बात कही। उनका कहना है कि कर्जमाफी एक फैशन बन गया है। कर्ज माफ करना करना समस्या का आखिरी समाधान नहीं है। हालांकि अपनी टिप्पणी पर विवाद होने की आशंका को देखते हुए उन्होंने बाद में सफाई भी दी।

इधर राजधानी भोपाल में भाजपा नेताओं द्वारा कांग्रेस के लोगों के घर-घर जाकर अपनी सरकार के स्लोगन लिखने पर कांग्रेस ने कहा कि मध्यप्रदेश में लोगों के घर पर जबरन ‘मेरा घर, भाजपा का घर’ लिखवाया गया है।

भाजपा अब दिल से उतरकर दीवार तक पहुंच गई है। दरअसल भाजपा पार्टी में सदस्यता के लिए नया अभियान चला रही है। जिसके चलते वह दूसरों के घर को भाजपा अपना घर बता रही है। यही नहीं, भाजपा कार्यकर्ताओं ने स्थानीय कांग्रेस नेता के घर पर भी यही नारा लिख दिया है। कांग्रेस का आरोप है कि भाजपा कार्यकर्ता बिना इजाजत लिए लोगों के घर पर यह नारा लिख रहे हैं।

यहां तक कि उन्होंने मंदिर तक को नहीं छोड़ा गया, वहां भी स्लोगन लिख दिया गया। यह नारा उन्होंने कांग्रेस के कुछ नेताओं के घरों पर भी लिख दिया। हालांकि घर के लोगों ने उन्हें नारे लिखने से मना किया था।