समर्थन मूल्य पर खरीदी गई प्याज बनी सिर दर्द


विदिशा: विदिशा जिले में समर्थन मूल्य पर किसानों से 8 रुपए किलो में खरीदी गई प्याज बारिश से सड़ जाने के कारण प्रशासन के लिए सिर दर्द बन गई है। जिला स्तर पर खरीदी गई प्याज के प्रशासन नीलाम करा चुका है। किन्तु भोपाल से भंडारण के लिए जिले में भेजी गई, 3500 मीट्रिक टन प्याज में करीब 260 मीट्रिक टन प्याज सड़ गई है, इस प्याज को नागरिक आपूर्ति निगम नष्ट करने की तैयारी कर रहा है।

 इस प्याज को ट्रैक्टर-ट्रालियों में भर कर इधर-उधर ग्रामीण क्षेत्रों में फेंका जा रहा है। यह सड़ी हुई प्याज बदबू के कारण ग्रामीणों के लिए सिर दर्द बनी हुई है, तो वही दूसरी ओर मवेशी इसे खाकर मर रहे हैं, ज्ञात हो कि मार्केटिंग सोसायटी के माध्यम से किसानों से प्याज खरीदने के लिए गंजबासौदा में समर्थन मूल्य खरीदी केन्द्र बनाया गया था, इस केन्द्र पर 7 जून से 30 जून तक 300 किसानों से 1800 मिट्रिक टन प्याज खरीदी गई थी।

इसमें से अच्छी गुणवत्ता की प्याज कटवाकर परिवहन किया गया और शेष बची हुई सैकड़ों क्विंटल दूषित प्याज सड़ जाने के कारण व्यवस्थित तरीके से नष्ट न कर, पिछले तीन दिनों से ककराबदा के पास केवटन नदी में ग्राम मुडरा मेवाली और बालरा के बीच मुख्यमार्ग के किनारे तथा बैतोली बनडिपो के पीछे दर्जनों ट्राली प्याज फेंकी गई है, खुले में पड़ी इस प्याज को मवेशियों के खाने से उनकी मौत हो रही है, ग्रामीणों ने इसकी शिकायत एसडीएम से की तो उन्होंने कहा कि इस मामले की शीघ्र जांच कराकर दोषियों के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी।