लेखा अधिकारी से मिली करोड़ों की संपत्ति


भोपाल: मध्य प्रदेश के श्योपुर जिले में महिला एवं बाल विकास विभाग के लेखाधिकारी के घर अल सुबह लोकायुक्त पुलिस ने छापा मारा। इस कार्रवाई में डेढ़ करोड़ रुपए की संपत्ति का खुलासा अब तक हो चूका है। टीम अभी भी जांच कर रही है। छापामार टीम को ऐसे दस्तावेज मिले हैं जिनसे और भी संपत्ति का खुलासा हो सकता है।

लेखाधिकारी अरविंद जैन वर्तमान में नरसिंगढ़ परियोजना में पदस्थ हैं और करीब 6 महीने पहले ही उसका ट्रांसफर हुआ। इसके पहले वे 15 साल से श्योपुर जिले में ही पदस्थ थे। बताया जाता है कि अरविंद जैन लंबे समय से श्योपुर जिले में पदस्थ रहे हैं हैं। कुछ महीने पहले लोकायुक्त में यह मामला सामने आया था कि जैन ने अनाधिकृत तरीके से संपत्ति अर्जित की है।

जांच में यह मामला सही पाया गया। जिसके बाद तड़के श्योपुर में क्लर्क जैन के घर में लोकायुक्त पुलिस ने छापामार कार्रवाई कर दी। अफसर सीधे जैन के केशव नगर स्थित मकान में सुबह 6 बजे पहुंचे।

कार्रवाई में जैन के घर से एक कार, दो टू व्हीलर, 10 लाख रुपए की बीमा पॉलिसी, 19 तोला सोना, 500 ग्राम चांदी के गहने। बेटी को एमबीबीएस की पढ़ाई करवाने के लिए खर्च हुए 22 लाख रुपए के दस्तावेज भी मिले। लोकायुक्त टीम की कार्रवाई जारी है। शुरुआती दौर में करीब डेढ़ करोड़ रुपए की संपत्ति का खुलासा हुआ है। इसमें एक मकान भी शामिल है।