लगातार बारिश से जनजीवन प्रभावित


भोपाल: मध्यप्रदेश के अनेक हिस्सों में बारिश का क्रम लगातार जारी है। राजधानी भोपाल में पिछले तीन दिन से लगातार बारिश से जनजीवन प्रभावित हुआ है। मौसम विज्ञान केन्द्र भोपाल के वैज्ञानिकों ने आज बताया कि पिछले चौबीस घंटों के दौरान राजधानी के अलावा इंदौर, उज्जैन और सागर संभागों के अधिकांश हिस्सों में बारिश हुई।

वहीं जबलपुर, चंबल और ग्वालियर संभागों के अनेक स्थानों तथा शेष संभागों में कुछ जिलों में वर्षा हुई। इस बीच मंदसौर जिले के गरोठ में 11, सुवासरा में 6, गुना, अम्बाह, दतिया, पेटलावद और भानपुरा में 5, ओरछा, सीहोर, थांदला में चार-चार, भावरा, होशंगाबाद, जावरा, झाबुआ, खिलचीपुर, लटेरी, रतलाम, सिरोंच, सैलाना, बुधरी, नरङ्क्षसहपुर, जबलपुर और पन्ना में तीन-तीन सेन्टीमीटर वर्षा दर्ज की गयी।

विभाग ने आगामी चौबीस घंटों के दौरान नीमच, मंदसौर, गुना, श्योपुर, रतलाम, उज्जैन, आगर, राजगढ़, झाबुआ और अलीराजपुर जिलों में कहीं-कहीं भारी बारिश होने की संभावना जताई है। वहीं विभाग ने मंदसौर, कटनी और गुना जिलों में भारी बारिश के चलते निचली बस्तियों में पानी भरने को लेकर अलर्ट जारी किया है। हालांकि विभाग की मानें तो आने वाले दो दिनों में बारिश की गतिविधियों में कमी के आसार हैं।

झाबुआ में आज तेरहवें दिन भी बारिस का क्रम जारी रहा। लगातार बारिश के चलते यहां आम जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। यहां आगे भी वर्षा का क्रम जारी रहेगा। लगातार हो रही बारिश के चलते जिले भर की सभी नदियां उफान पर आ गई हैं। कई ग्रामीण अंचलों में नदी-नालों पर बने रपटों के ऊपर पानी बहने से वहां का सड़क संपर्क नगरीय क्षेत्रों से टूट गया है। कुछ ग्रामीण क्षेत्रों में लगातार बारिश के चलते आदिवासी किसानों के झोपड़े भी गिरने की खबरें हैं।

ङ्क्षवध्य में भी पिछले दो-तीन दिनों से गरज-चमक की स्थिति बनी हुई है। यहां रुक-रुक कर रिमझिम बारिश हो रही है। पिछले चौबीस घंटों के दौरान रीवा में 21.7 मिलीमीटर तो वहीं सतना में 14.3 मिलीमीटर वर्षा हुई है। यहां आगामी चौबीस घंटों के दौरान वर्षा की गतिविधियां बढऩे के आसार जताए गए हैं। राजधानी भोपाल में रुक-रुक कर बारिश का दौर आज भी जारी रहा। यहां आगामी चौबीस घंटों के दौरान तेज हवाएं चलने और गरज-चमक के साथ बौछारें पडऩे की संभावना व्यक्त की गयी है।