विद्युत सब्सिडी में कटौती : किसानों से धोखा


भोपाल: मध्यप्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष अजय ङ्क्षसह ने सरकार पर आरोप लगाया है कि किसानों को बिजली के लिए दी जाने वाली आठ हजार 736 करोड़ की सब्सिडी में 336 करोड़ रुपये की कटौती करते हुए सरकार ने किसानों को धोखा दिया है। ङ्क्षसह ने कहा कि प्रदेश के वर्ष 2016-17 के बजट भाषण में वित्तमंत्री ने कृषि उपभोक्ताओं को नि:शुल्क और सस्ती दरों पर बिजली देने के लिए आठ हजार 736 करोड़ रुपये देने की घोषणा की थी।

यह बजट प्रावधान विधानसभा में पारित किया गया, लेकिन इस मामले में 20 जून को हुई कैबिनेट बैठक में सरकार ने यह सब्सिडी घटाकर आठ हजार 400 करोड़ रुपये कर दी। श्री ङ्क्षसह ने कहा कि इस समय किसान संकट में हैं, उन्हें और मदद देने के बजाए सरकार उनको दी जाने वाली मदद में भी कटौती कर  रही हैं।

नेता प्रतिपक्ष ने कहा है कि जब एक बार कोई बजट प्रावधान विधानसभा द्वारा पारित कर दिया हो तो उसके बाद सरकार को कैबिनेट में लाने का सवाल ही नहीं है और उसमें उसकी कटौती करने का तो कोई अधिकार ही नहीं है। सरकार किसानों को धोखा दे रही है। उन्होंने मुख्यमंत्री शिवराज ङ्क्षसह चौहान से विधानसभा द्वारा पारित आठ हजार 736 करोड़ रुपये सब्सिडी को यथावत रखने की मांग की है।