निर्माण कार्यों की मंत्री ने की समीक्षा


विदिशा: गृह एवं परिवहन मंत्री और जिले के प्रभारी मंत्री श्री भूपेन्द्र सिंह ठाकुर की अध्यक्षता में जिला योजना समिति की बैठक सम्पन्न हुई। प्रभारी मंत्री के द्वारा पचास लाख से अधिक की लागत के निर्माण कार्यों की गहन समीक्षा की गई।  विधायकों द्वारा सड़कों की गुणवत्ता के संबंध में की गई शिकायतों को ध्यानगत रखते हुए प्रभारी मंत्री ने लोक निर्माण विभाग के कार्यपालन यंत्री को निर्देश दिए कि सभी विधायकों से सम्पर्क कर उनके द्वारा बतलाई गई सड़कों का संयुक्त भ्रमण कर आगामी बैठक में पालन प्रतिवेदन प्रस्तुत करें।

प्रभारी मंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि जनप्रतिनिधियों की उपस्थिति में हितग्राहियों को लाभांवित की जाने वाली सामग्री का वितरण कराया जाए। उन्होंने विदिशा आईटीआई भवन का लोकार्पण किए बगैर विभाग को सौंपने पर पीआईयू के कार्यपालन यंत्री को हिदायत देते हुए कहा कि शीघ्र ही लोकार्पण की तारीख तय करें और भविष्य में इस प्रकार की पुर्नवृत्ति न हो का विशेष ध्यान रखा जाए।

प्रभारी मंत्री ने चिन्हित किए गए एक्सीडेन्टल जोन एवं घाटों की कटाई के लिए ध्यान रखते हुए सड़कों में सुधार करने के निर्देश दिए है। बासौदा विधायक द्वारा अवगत कराया गया कि लोक निर्माण विभाग के अधिकारी बयान देने हेतु उपस्थित नहीं हो रहे हैं। इस कारण से ठेकेदार पर कार्यवाही नहीं हो पा रही है। ततसंबंध में प्रभारी मंत्री ने स्पष्ट निर्देश दिए कि संबंधित अधिकारी यदि अब बयान देने नहीं जाते हैं तो उनके खिलाफ भी एफआईआर दर्ज कराई जाएगी।

जिला योजना समिति की बैठक में कुरवाई निकाय से निकलने वाली पीडब्ल्यूडी की सड़क को कुरवाई नगर परिषद को सौंपने का निर्णय सर्वसम्मति से लिया गया है। ताकि उसकी मरम्मत संबंधी कार्य निकाय त्वरित कर सकें। माला देवी मंदिर के जीर्णोद्वार के संबंध में प्रभारी मंत्री ने केन्द्रीय पुरातत्व विभाग को पत्राचार करने पर सहमति व्यक्त करते हुए कहा कि क्षेत्र की सांसद श्रीमती सुषमा स्वराज से इस संबंध में सम्पर्क किया जाएगा। ताकि पुरातत्व विभाग द्वारा जीर्णोद्वार कार्य शीघ्र किया जा सकें।

जिले के ऐसे स्कूल भवन जहां पहुंच मार्ग नहीं है उन क्षेत्रों में ग्रामीण विकास विभाग के माध्यम से सड़कों का निर्माण कराए जाने के निर्देश दिए गए हैं। ग्राम पंचायत लखार में मिडिल स्कूल बनाया गया है के संबंध में नटेरन क्षेत्र के सदस्य द्वारा अवगत कराया गया कि ग्राम में मिडिल स्कूल नहीं बना है। जिसे गंभीरता से लेते हुए प्रभारी मंत्री ने जांच कर तीन दिवस के भीतर रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिए हैं।

प्रभारी मंत्री श्री भूपेन्द्र सिंह ने जिला पंचायत सीईओ को निर्देश दिए कि जिन हितग्राहियों को योजनाओं के तहत आवास स्वीकृत किए गए है उन सभी को जिला पंचायत के माध्यम से पत्र प्रेषित कर आवास स्वीकृति से उन्हें अवगत कराया जाए ताकि वे आवास स्वीकृत हुआ है की नहीं कि जानकारी प्राप्ति के लिए भटकें न।

उद्यानिकी राज्यमंत्री श्री सूर्यप्रकाश मीणा ने हितग्राहीमूलक योजनाओं को क्रियान्वित कराने वाले खासकर कृषि, उद्यानिकी विभाग के अधिकारी को निर्देश दिए कि विभागीय किट का वितरण जनप्रतिनिधियों की उपस्थिति में कराया जाए। कीटनाश्क औषधी के लिए किसानों को मिलने वाली अनुदान की जानकारी का व्यापक प्रचार-प्रसार करने के भी निर्देश उनके द्वारा दिए गए है।

जिला पंचायत के सभागार कक्ष मेें हुई उक्त बैठक में विधायक सर्वश्री कल्याण सिंह ठाकुर, श्री निशंक जैन, श्री गोवर्धन उपाध्याय, श्री वीर सिंह पवार समेत समिति के अन्य सदस्यगणों के अलावा कलेक्टर श्री अनिल सुचारी, पुलिस अधीक्षक श्री विनीत कपूर समेत समस्त विभागों के अधिकारी मौजूद थे।