जंगल में सड़ी प्याज फेंकने से जानवरों में बीमारी का खतरा


होशंगाबाद: मध्यप्रदेश के होशंगाबाद जिले में रातों-रात किसी के जंगल में सड़ी प्याज फेंकने से रातापानी अभयारण्य और नजदीकी जंगलों के वन्य प्राणियों में बीमारी का खतरा पैदा हो गया है। सामान्य वन मंडल, बुधनी के अनुविभागीय मंडल अधिकारी मनोज भदौरिया ने बताया कि जंगल में बगैर अनुमति के सड़ी प्याज फेंकी गई है, जिससे बीमारी फैलने का अंदेशा है।

प्याज फेंकने वालों की तलाश की जा रही है। होशंगाबाद के इस वन क्षेत्र में अचानक रातों-रात किसी ने हजारों मीट्रिक टन सड़ी प्याज राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक 69 भोपाल-नागपुर हाईवे पर बुधनी के जंगलों में फेंक दी। सड़ी प्याज को बन्दर और अन्य जानवर खाने लगे हैं, जिससे बंदरों में बीमारी फैलने का खतरा बन गया है। मिडघाट और रातापानी अभयारण्य से लगी सीमा के पास पड़ी सड़ी प्याज को खाने के लिए बंदरों के झुण्ड एकत्रित हो रहे हैं। वहीं बारिश में सड़ी प्याज की दुर्गंध से राहगीरों का निकलना भी मुश्किल हो गया है।