ये बहु पति की हत्या करके सास की सेवा करना चाहती है


भोपाल : हर किसी एक लड़की का सपना होता है। की जब उसकी शादी हो तो एक ऐसा प्यार भरा परिवार मिले और उसको ऐसा पति मिले जो उसे बहुत प्यार करे लेकिन बोलते है न कल किसने देखा इसी तरह भोपाल की एक खूबसूरत पढ़ी-लिखी लड़की को शादी के बाद प्यार करने वाला पति मिला अच्छा परिवार और फिर जब बेटी हुई तो लगा जैसे सारे सपने सच हो गए। इस कहानी की मुख्य किरदार का नाम है सपना तख्तानी। जी हां यह भोपाल की वही सपना है जिसने अपने प्रेमी हर्षप्रीत से अपने ही पति मनीष की हत्या करवाई थी।

source

सुखी परिवार को न जाने किसी की नजर लगी और एक बहु, पत्नी और मां से बढ़कर उसे प्रेमिका होने का रिश्ता अहम लगा। इसी रिश्ते की खातिर पहले पति को मरवाया और जुर्म छिपाने घर से भाग गई। जब पुलिस ने पकड़ा और अदालत ने सजा सुनाई तब तक भी उसके चेहरे पर पछतावा नहीं दिख रहा था। लेकिन आज जब सजा के 4 साल बीत चुके हैं तो वह अपने किए पर पछता रही है। रो-रो कर माफी मांग रही है लेकिन क्या उसे परिवार अपनाएंगा…. प्यार धोखा और फिर पछतावे की यह कहानी बेहद दिलचस्प मोड़ पर है। इस कहानी की मुख्य किरदार का नाम है सपना तख्तानी।

source

जी हां यह भोपाल की वही सपना है जिसने अपने प्रेमी हर्षप्रीत से अपने ही पति मनीष की हत्या करवाई थी। सपना का चेहरा जितना मासूम था उसकी हकीकत उससे कहीं ज्यादा खौफनाक। लेकिन आज सपना अपने किए पर पछता रही है। उसने रोते हुए सरकार से गुहार लगायी कि उसकी बेटी से एक बार मिलवा दिया जाए। वह कहती है कि मुझे माफी चाहिए।

source

दर्द हुआ बयां
सपना ने मीडिया से चर्चा में कहा जब जुर्म हुआ था तब मेरे सिर पर खून सवार था पर आज जब सबकी निगाहों में गिर गईं हूं तो बहुत बुरा लग रहा है। बेटी को देखने के लिए 5 साल से आंखे तरस रहीं हैं। घर से कोई भी उसे मुझसे मिलवाने नहीं लाता। अब तो परिवार वाले भी बात करना पसंद नहीं करते। जेल से निकलने के बाद सपना वापिस ससुराल जाना चाहती है। वह कहती है कि मेरा गुनाह माफ करने लायक नहीं है पर फिर भी यदि मेरे सास-ससुर मुझे माफ कर पाए तो मैं जीवनभर उनकी सेवा करना चाहती हूं। मुझे मायके में नहीं ससुराल में रहना है अपनी बेटी के साथ।

source

आखिर क्या हुआ था उस रात
11 नवंबर 2013 प्लाईवुड व्यापारी मनीष के लिए आम दिनों की तरह ही था। नाश्ता करने के बाद वह अपने शोरूम के जाने के लिए निकल गया। लेकिन उसे क्या पता था कि यह जीवन का आखरी सफर होगा। उस रात किसी ने मनीष की गोली मारकर हत्या कर दी। पुलिस जांच में पता चला कि मनीष के दोस्त हर्षप्रीत ने यह काम अपने नौकर के साथ मिलकर किया है।

source

पूछताछ में हर्षप्रीत और सपना के प्रेम संबंधों का खुलासा हुआ। दरअसल सपना हर्षप्रीत से प्यार करने लगी थी और आगे की जिंदगी उसी के साथ जीना चाहती थी। लेकिन मनीष रास्ते का कांटा बन रहा था इसलिए सपना ने हर्ष के साथ मिलकर उसका मर्डर प्लान किया। सपना और हर्ष दोनों उम्र कैद की सजा काट रहे हैं।