साढ़े बारह लाख घरों में पहुंचा उजाला


भोपाल : मध्यप्रदेश में सहज बिजली हर घर योजना सौभाग्य द्वारा अब तक 12 लाख 45 हजार 626 घरों में उजाला पहुंच चुका है। योजना में शेष बचे लगभग 31 लाख घरों को अक्टूबर तक विद्युतीकृत किये जाने का लक्ष्य रखा गया है। आधिकारिक जानकारी के अनुसार मध्यप्रदेश में केन्द्र और राज्य सरकार की प्रभावी पहल पर ऐसे सभी घरों में बिजली कनेक्शन उपलब्ध करवाये जा रहे हैं, जो वर्षों से उजाले से वंचित थे।

इसके लिये क्रियान्वित की जा रही सहज बिजली हर घर ‘सौभाग्य योजना’ के बेहतर परिणाम सामने आ रहे हैं। प्रदेश की तीनों विद्युत वितरण कम्पनी द्वारा समुचित प्रयास कर ऐसे सभी अंधेरे में डूबे घरों को बिजली कनेक्शन उपलब्ध करवाकर उनके घर रोशन किये जा रहे हैं। सौभाग्य योजना के क्रियान्वयन के लिये प्रदेश की तीनों विद्युत वितरण कम्पनी तत्परता से कार्य कर रही हैं।

पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कम्पनी को क्षेत्र की 20 जिलों के 15 लाख 7 हजार 20 कनेक्शन विहीन घरों को बिजली से जोड़ने का लक्ष्य दिया गया है। कम्पनी ने अब तक 4 लाख 10 हजार 337 घरों को बिजली कनेक्शन से जोड़ है। इसी प्रकार मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कम्पनी ने क्षेत्र के 16 जिलों के 18 लाख 55 हजार 325 बिजली कनेक्शन विहीन घरों के विद्युतीकरण के लक्ष्य के विरुद्ध 5 लाख 39 हजार 191 घरों को रोशन किया है।

इसके अलावा पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कम्पनी द्वारा अक्टूबर-2018 तक क्षेत्र के 15 जिलों में 7 लाख 16 हजार 851 बिजली कनेक्शन विहीन घरों को बिजली सुविधा मुहैया करवाने के लक्ष्य के विरुद्ध 2 लाख 96 हजार 98 में बिजली कनेक्शन उपलब्ध करवा दिये गये हैं।

सौभाग्य योजना में 60 प्रतिशत राशि केन्द्र से अनुदान के रूप में उपलब्ध करवाई जा रही है। शेष 40 प्रतिशत राशि का प्रबंध राज्य शासन एवं तीनों विद्युत वितरण कम्पनी द्वारा किया जा रहा है। योजना में आर्थिक, सामाजिक रूप से पिछड़े हितग्राहियों को नि:शुल्क कनेक्शन दिये जा रहे हैं। अन्य हितग्राहियों से 500 रुपये की राशि 10 किश्तों में मासिक विद्युत बिल के साथ ली जायेगी।

अन्य विशेष खबरों के लिए पढ़िये की पंजाब केसरी अन्य रिपोर्ट