महिला आयोग ने जोड़ा बिखरा परिवार


भोपाल : राज्य महिला आयोग में हुई सुनवाई में आज तीन दम्पत्तियों ने पिछले गिले-शिकवे भुलाकर एक बार फिर से साथ-साथ दाम्पत्य जीवन बिताने का निर्णय लिया। वहीं एक दम्पत्ति ने 15 दिन का समय माँगा। लता वानखेड़े की अध्यक्षता में हुई आयोग की संयुक्त बैंच में आज 30 प्रकरण की सुनवाई की गयी। अधिकतर मामले पारिवारिक विवाद और दहेज प्रताडऩा के थे।

सुनवाई में आयोग की सदस्य गंगा उइके, अंजू सिंह बघेल, सूर्या चौहान, प्रमिला वाजपेयी और संध्या सुमन राय भी मौजूद थीं। राज्य महिला आयोग द्वारा आज भोपाल में दूसरे चरण की सुनवाई शुरू की गयी है। पहले चरण में महिला आयोग ने प्रदेश के सभी 51 जिलों में संयुक्त बैंच के माध्यम से 7000 से अधिक प्रकरण की सुनवाई की है।

भोपाल में 18 जुलाई को भी प्रकरणों की सुनवाई होगी। इसके बाद 27 जुलाई को बैतूल, 28 को होशंगाबाद और 29 जुलाई को हरदा जिले में प्रकरणों की सुनवाई होगी। भोपाल में अगली बैंच 31 जुलाई और एक अगस्त को होगी।