जेल में दंगा कराने पर दर्ज हुई इंद्राणी के खिलाफ FIR


Indrani Mukherjee

नई दिल्ली : पूर्व मीडिया उद्यमी और अपनी बेटी शीना बोरा मर्डर केस में जेल की सजा काट रही इंद्राणी मुखर्जी के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। इंद्राणी पर आरोप है कि उसने एक कैदी की मौत के बाद महिला कैदियों को भड़काकर जेल में हिंसा कराई। इंद्राणी के अलावा अन्य 6 लोगों पर भी केस दर्ज किया गया है।

                                                                                             Source

सूत्रों के मुताबिक मुंबई के बाइकुला जेल में बंद एक कैदी की मौत के बाद इंद्राणी मुखर्जी ने महिला कैदियों को हिंसक प्रदर्शन के लिए उकसाया, उन्हें उनके बच्चों का इस्तेमाल करते हुए जेलकर्मियों के खिलाफ बवाल काटने के लिए उत्तेजित किया। इसके बाद कैदियों ने जेल की छत पर चढ़कर जमकर हंगामा किया। उन्होंने मारपीट और तोड़फोड़ की। नागपाड़ा पुलिस ने जिन 6 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है, उनमें बायकुला जेल की स्टाफर, जेलर आदि के नाम भी शामिल हैं।

                                                                                                 Source

इस बवाल के बाद जेल प्रशासन ने पाया कि इंद्राणी मुखर्जी इस हंगामे की मास्टर माइंड हैं।  इसके बाद उनके खिलाफ पुलिस ने हिंसा भड़काने का केस दर्ज किया और साथ ही जेल में बंद 200 कैदियों के खिलाफ कल आईपीसी के तहत दंगा फैलाने, गैर-कानूनी तरीके से इक्ट्ठा होने, सरकारी कर्मचारी पर हमला करने और अन्य संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज किया। इंद्राणी पर पहले से ही अपनी बेटी की हत्या करने का आरोप है, जो उसने अपने पूर्व पति संजीव खन्ना और पूर्व ड्राइवर श्यामवर राय के साथ मिलकर 24 अप्रैल 2012 को किया था।