आलू, प्याज की तरह बिक रहा सिम कार्ड : डीजीपी


पणजी: गोवा के पुलिस प्रमुख ने कहा है कि राज्य में आपराधिक तत्व आसानी से मोबाइल फोन सिम कार्ड हासिल कर लेते हैं और दूरसंचार कंपनियों को इनका दुरूपयोग रोकने के लिए अपनी सत्यापन प्रक्रिया को सख्त करना चाहिए। पुलिस महानिदेशक मुक्तेश चंद्र ने कल यहां संवाददाताओं से कहा, ”जाली दस्तावेज जमा कर अपराधी बहुत आसानी से सिम कार्ड हासिल कर रहे हैं। वे किसी और की तस्वीरें, नाम और हस्ताक्षर देकर सिम कार्ड प्राप्त कर रहे हैं।”

उन्होंने कहा कि दूरसंचार कंपनियों के प्रतिनिधियों ने उपभोक्ताओं के पते और अन्य विवरणों के सत्यापन के लिए फोन पर सत्यापन प्रक्रिया अपना रखी है। वे इन विवरणों के सत्यापन के लिए निजी तौर पर जाने से बचते हैं जो कि नियमों का उल्लंघन है। डीजीपी ने कहा कि पर्यटन के लिए चर्चित राज्य में सिम कार्ड आलू और प्याज की तरह बिक रहा है जो कि सरलता से अपराधियों को मिल जाता है।

उन्होंने कहा कि केवाईसी का पालन नहीं करने के कारण आपराधिक मानसिकता के लोगों को मदद मिलती है। कभी-कभी वास्तविक उपभोक्ता के बारे में पहचान करना और पता लगाना बहुत मुश्किल होता है। चंद्र ने कहा, ”हमने कंपनियों-डीलरों-एजेंटों को सुनिश्चित करने को कहा है कि सिम कार्ड गलत हाथों में नहीं जाए। ” –

-भाषा