कानून व्यवस्था बिगाडऩे पर सख्त कार्रवाई होगी : परिकर


गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर परिकर ने आज चेतावनी दी कि राज्य में जो भी कानून व्यवस्था बिगाडऩे की कोशिश करेगा उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जायेगी। मुख्यमंत्री का यह बयान बीफ खाने के संदर्भ में एक धार्मिक नेता के विवादित बयान की पृष्ठभूमि में सामने आया है। मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा में सनातन धर्म प्रचार सेवा समिति की अध्यक्ष साध्वी सरस्वती हाल में विभिन्न हिंदू संगठनों द्वारा आयोजित एक सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिये गोवा आयी थीं, जहां उन्होंने कहा था कि बीफ खाने वालों को सरेआम फांसी पर लटका देना चाहिए।

source

पशु वध और एवं उनकी खपत को लेकर चर्चा बढऩे के बीच साध्वी के इस बयान ने विवाद भड़का दिया था। गोवा क्रांति दिवस के उपलक्ष्य में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए परिकर ने कहा, ”ऐसे कुछ वर्ग हैं जो आदतन इस तरह के मुद्दे उठाते हैं, जिनका गोवा से कोई सरोकार नहीं होता। राज्य सरकार पहले ही इन मुद्दों पर स्पष्टीकरण दे चुकी है। हम लोग कानून का पालन करेंगे।” साध्वी के इस तरह के बयानों का स्पष्ट उल्लेख करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा, ”अगर कोई कानून द्वारा स्वीकृत चीजें करता है तो इसमें कोई हर्ज नहीं है।

source

लेकिन अगर कोई व्यक्ति ऐसा कार्य करता है जिसकी इजाजत कानून में नहीं है तो उसके खिलाफ सख्त कार्वाई की जायेगी।” उन्होंने कहा, ”लोगों के मन में (इस मुद्दे पर) शंका हो सकती है। कुछ शंका तो जानबूझकर पैदा की गयी है जबकि कुछ अज्ञानता की वजह से पैदा हुई है।” अपने भाषण में ऐसे मुद्दे के विशिष्ट संदर्भ से बचते हुए उन्होंने कहा, ”मुख्यमंत्री को सभी मुद्दों पर बयान देने की आवश्यकता नहीं है।” बहरहाल, र्पिकर ने यह भी कहा कि 18 जून 2018 तक उनकी सरकार का लक्ष्य गोवा को प्लास्टिक एवं कचरा मुक्त बनाना है।