गोवा सरकार क्यों रही हिंदू सम्मेलन के भाषणों पर खामोश : कांग्रेस


पणजी:अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के सचिव गिरीश चोडणकर ने आज अखिल भारतीय हिंदू सम्मेलन में दिये गये भाषणों पर गोवा सरकार की चुप्पी पर हमला बोलते हुए सवालिया निशान लगाये। श्री चोडणकर ने यहां जारी एक बयान में आरोप लगाया कि सम्मेलन में सांप्रदायिक भड़काऊ बयान दिये गये और इस आयोजन की पार्टी रही गोवा सरकार ने चुप्पी साधते हुए सम्मेलन को जारी रखने की अनुमति दे दी। उन्होंने मध्य प्रदेश की साध्वी सरस्वती की ओर इशारा करते हुए कहा कि उन्होंने सम्मेलन में खुले आम केन्द्र सरकार से मांग की कि जो लोग गाय का मांस खाते हैं उन्हें फांसी पर लटका दिया जाय।

उन्होंने प्रश्न करते हुए कहा कि सुश्री सरस्वती का कहने का यह अर्थ है कि श्री मोदी की सरकार परंपरागत रूप से गाय का मांस खाने वाले इसाई और अन्य समुदाय के लोगों को लटका देना चाहिए। उन्होंने कहा कि गोवा में सभी धर्म के लोगों का एक साथ रहने का दुनिया में सबसे अच्छा उदाहरण है और गोवा में हिंदू  महासभा का सम्मेलन करने के पीछे हिंदू  राष्ट्र का मामला उठाना है।

उन्होंने कहा कि गोवा सरकार को स्वयं इस मामले में संज्ञान लेते हुए सुश्री साध्वी के घृणात्मक बयान पर उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराना चाहिए। सुश्री साध्वी के दोबारा गोवा प्रवेश पर प्रतिबंध लगाया जाना चाहिए और राज्य में इस तरह के सम्मेलन नहीं होने देना चाहिए। इस मामले में उन्होंने गोवा फारवर्ड पार्टी के नेता और मंत्री विजय सरदेसाई के इस मामले में चुप्पी साधने पर भी प्रश्न किया है।