बंगाल में मोदी की अगवानी के लिए हेलिपैड पहुंची ममता, दीक्षांत समारोह में एक साथ होंगे PM मोदी-शेख हसीना


PM Modi speaking at convocation

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बंगाल पहुंचे जहां उनका स्वागत मु्ख्यमंत्री ममता बनर्जी ने किया था। राज्यपाल केसरीनाथ त्रिपाठी भी मोदी को रिसीव करने कोलकाता एयरपोर्ट पहुंचे थे। पीएम मोदी ने विश्व भारती विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि यहां किसी भी तरह की असुविधा के लिए मैं जिम्मेदार हूं। मैं यहां अतिथि के तौर पर नहीं अपितु आचार्य के तौर पर आया हूं।

उन्होंने कहा कि लोकतंत्र ही इस देश का आचार्य है। उन्होंने कहा कि ‘सबसे पहले मैं विश्वभारती के चांसलर के तौर पर माफी मांगता हूं। जब मैं यहां आ रहा था, तो कुछ छात्रों ने मुझसे कहा कि यहां पीने के पानी की समस्या है। मैं आप सबको हुई असुविधा के लिए माफी मांगता हूं।’ प्रधानमंत्री ने कहा कि बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना यहां मौजूद हैं।  भारत और बांग्लादेश दो अलग-अलग देश हैं, लेकिन हमारे हित जुड़े हुए हैं।  चाहे वो संस्कृति हो या पब्लिक पॉलिसी, हम एक दूसरे से बहुत सीखते हैं और इसका एक बड़ा उदाहरण बांग्लादेश भवन है। उन्होंने कहा कि दुनिया के अनेक विश्वविद्यालयों में टैगोर आज भी अध्ययन का विषय हैं। गुरुदेव पहले भी वैश्विक नागरिक थे और आज भी हैं।

संस्थान के अधिकारियों ने बताया कि प्रधानमंत्री शुक्रवार को हसीना के साथ भारत और बांग्लादेश के सांस्कृतिक संबंधों के प्रतीक ‘बांग्लादेश भवन’ का उद्घाटन करेंगे और वहां एक द्विपक्षीय बैठक करेंगे। पुलिस ने बताया कि पश्चिम बंगाल के बीरभूम जिले के बोलपुर उपसंभाग में स्थित शांतिनिकेतन में बहुस्तरीय सुरक्षा व्यवस्था की गयी है। प्रधानमंत्री बनने के बाद से यह मोदी का विश्वविद्यालय का पहला दौरा है। इसके बाद पीएम मोदी दिन में झारखंड जाएंगे, जहां वह सिंदरी में केंद्र एवं राज्य सरकारों की कई परियोजनाओं की आधारशिला डालेंगे।

इनमें हिंदुस्तान उर्वरक और रसायन लिमिटेड की सिंदरी उर्वरक परियोजना, गेल की रांची सिटी गैस वितरण परियोजना, एम्स, देवघर, देवघर हवाईअड्डे का विकास और 3×800 मेगावाट उत्पादन क्षमता की पतरातू सुपर ताप विद्युत परियोजना को बहाल करना शामिल है। पीएम मोदी की मौजूदगी में ‘जन औषधि केंद्र’ के लिए सहमित ज्ञापनों का भी आदान प्रदान किया जाएगा और वह बाद में सभा को संबोधित करेंगे। प्रधानमंत्री रांची में झारखंड के ‘आंकांक्षापूर्ण’ जिलों के जिलाधिकारियों से बातचीत करेंगे।

पीएम मोदी ने जनवरी में ‘आकांक्षापूर्ण जिलों का बदलाव’ कार्यक्रम शुरू किया था, जिसका लक्ष्य इन जिलों के लोगों का जीवन स्तर बेहतर करने के लिए वहां तेजी से और प्रभावशाली तरीके से बदलाव लाना है।

देश की हर छोटी-बड़ी खबर जानने के लिए पढ़े पंजाब केसरी अखबार।