मायावती ने योगी सरकार को दलित विरोधी कहा


मुजफ्फरनगर : बसपा अध्यक्ष मायावती ने योगी सरकार को दलित विरोधी बताया और प्रदेश मे जंगल राज कायम रखने का आरोप लगाया। मायावती दिल्ली से सहारनपुर के शब्बीरपुर में पीडि़तों से मिलने के लिए गईं और जाते वक्त मेरठ रोड हाईवे स्थित एक रिर्सोट पर खड़े पार्टी कार्यकर्ताओं से मिलने के बाद पत्रकारों से बात भी की। उन्होंने कहा कि योगी सरकार दलित विरोधी है और मायावती ने शब्बीरपुर की घटना की कड़े शब्दों में निन्दा करी।

उन्होंनें प्रदेश सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि भेदभाव पूर्ण नीति के साथ काम किया जा रहा है और सरकार अपने वायदों पर खरी उतरती नजर नहीं आ रही है। मायावती ने कहा कि महाराणा प्रताप जयंती पर विगत 5 मई को हुए संघर्ष में दलितों के 55 घरों को फूंक दिया गया था। सहारनपुर में हिंसा को लेकर अब प्रदेश का सियासी पारा चढ़ता नजर आ रहा है।

बसपा प्रमुख मायावती लंबे अंतराल के बाद मुददे को लेकर मैंदान में हैं। गौरतलब है कि विगत पांच मई को सहारनपुर के गांव शब्बीरपुर में हुए संघर्ष में युवक सुमित की मौत हो जाने के बाद दलितों के 55 घरों को फूंक दिया गया था। इसको लेकर 9 मई को भीम आर्मी द्वारा बुलाई गई पंचायत पुलिस ने नहीं होने दी थी। जिससे गुस्साये भीम आर्मी के सदस्यो ने शहर में हंगामा, पथराव और आगजनी की थी।

शब्बीरपुर हिंसा की जमीनी हकीकत जानने के लिए बसपा प्रमुख मायावती कार द्वारा दिल्ली से सहारनपुर जाते वक्त कुछ देर के लिए मेरठ रोड पर भंगेला चैक पोस्ट, बेगराजपुर, संधवली तथा हाईेवे स्थित रिर्सोट पर रूकी। पार्टी कार्यकर्ताओं ने मेरठ रोड पर अनेक स्थानों पर अपनी नेता का स्वागत किया तथा जमकर नारेबाजी की। इस दौरान बसपा जिलाध्यक्ष शिवकुमार, पूर्व सांसद कादिर राणा, पूर्व विधायक अनिल कुमार, पूर्व विधायक नूरसमील राणा उर्फ पप्पू राणा, समेत अनेक लोग मौजूद थे।

– (वार्ता)