मायावती के आदेश पर दयाशंकर के खिलाफ धरना प्रदर्शन हुआ था: नसीमुद्दीन


लखनऊ : उत्तर प्रदेश में योगी सरकार में मंत्री स्वाति सिंह की पुत्री और सास के बारे में अभद्र टिप्पणी करने के आरोपी और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के पूर्व महासचिव नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने सफाई दी कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नेता के खिलाफ धरना प्रदर्शन पार्टी प्रमुख मायावती के आदेश पर किया गया था। दो रोज पहले बसपा से निष्कासित श्री सिद्दीकी ने कल पार्टी मुखिया मायावती के खिलाफ मोर्चा खोलते हुये गंभीर आरोप लगाये थे।

आज राजधानी लखनऊ के हजरतगंज थाने में स्वाति सिंह मामले में बयान दर्ज करने आये श्री सिद्दीकी ने पत्रकारों से कहा, “महारानी (मायावती) के आदेश पर धरना प्रदर्शन हुआ था।” इससे पहले श्री सिद्दीकी ने स्वाति सिंह के मुकदमे में बयान दर्ज कराया। नसीमुद्दीन का बयान हजरतगंज कोतवाली प्रभारी ने वीडियो रिकॉर्डिंग के तौर पर दर्ज किया।

गौरतलब है कि स्वाति सिंह के पति और भाजपा के उपाध्यक्ष दयाशंकर सिंह ने पिछले साल जुलाई में मऊ में एक कार्यक्रम में बसपा प्रमुख मायावती के खिलाफ अभद्र टिप्पणी की थी। इसको लेकर उनकी खासी आलोचना हुयी थी।

जवाब में बसपा कार्यकर्ताओं ने लखनऊ में प्रदर्शन के दौरान बैनरों पर दयाशंकर, उनकी मां, बहन और बेटी के बारे में आपत्तिजनक बातें लिखी थीं। इसे लेकर स्वाति सिंह ने बसपा अध्यक्ष मायावती और तत्कालीन महासचिव नसीमुद्दीन समेत अन्य नेताओं के खिलाफ हजरतगंज थाने में एफआईआर दर्ज कराई थी।

– (वार्ता)