पटना : प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी प्रसाद यादव द्वारा सुशील कुमार मोदी को खुली चुनौती के बावजूद जवाब नहीं देने पर फिर से सुशील कुमार मोदी को ट्वीट कर चुनौती दी। उन्होंने कहा कि कुछ भी बकने के बाद जुगाली करते हैं कि नहीं सुशील मोदी उर्फ अफवाह मियां? ट्वीट पर बकवास और अखबार मैनेज कर बयान छपवाने के बाद रजाई ओढ़ सो जाते हैं का? खुली चुनौती दी है आपको। दम है तो स्वीकार करों अन्यथा हार अंगीकार करों। उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार के आप मुख्य प्रवक्ता है यह भाजपा जान गयी है।

नीतीश जी का अपने अधीन गृह विभाग पर कोई कंट्रोल नहीं है। दो-दो पूर्व मुख्यमंत्रियों की सुरक्षा कोई अधिकारी बिना मुख्यमंत्री से पूछे अपनी मर्जी से कैसे हटा सकता है? मुख्यमंत्री अधिकारियों की मनमर्जी पर धृतराष्ट्र क्यों बने हुए है? किन गलतियों की वजह से नीतीश कुमार इतने कमजोर, असहाय और बेबस है? नीतीश कुमार और उनका गृह विभाग झूठ की खेती कर रहा है।

कहते हैं पूर्व मुख्यमंत्री लालू जी के सुरक्षा गार्ड हटाये गये हैं इन्हें इतना भी ज्ञात नहीं कि वो तो 4 महीने पहले ही हटा दिए थे।श्री यादव ने कहा कि अगर वो लालू जी के सुरक्षाकर्मी थे तो आपका विभाग 4 महीने से क्या कर रहा था? झूठ कम बोलना चाहिए चाचा जी। नीतीश कुमार को सृजन घोटाले से बचा रहे एवं प्रदेश के अधिकारियों से आरसीपी टैक्स वसूलने वाला एक वरीय अधिकारी मुख्यमंत्री की तरफ से पूरे पुलिस महकमें को चला रहा है।

मुख्यमंत्री बताए उस अधिकारी में ऐसा क्या विशेष गुण है जो मौखिक आदेश से किसी की भी सुरक्षा हटवा सकता है? नीतीश कुमार बताए उन्होंने परसों रात 12 बजे पूर्व सीएम के आवास की सुरक्षा हटाने का आदेश क्यों दिया था। नीतीश जी बताये उन्होंने आज पूर्व सीएम के आवास की सुरक्षा पुन: बहाल करने का आदेश क्यों दिया है?

मात्र 48 घंटे में उन्होंने पलटी मारने की कला का प्रदर्शन क्यों किया? हम सच्चे है इसलिए हमेशा आपको बैकफुट पर जाना पड़ता है। हम छल, कपट और प्रपंच से कोसों दूर है। इसलिए हम जो बोलते है वो अंत में सत्य ही साबित होता है भले ही उसमें देर लगती है।

देश की हर छोटी-बड़ी खबर जानने के लिए पड़े पंजाब केसरी अख़बार