नयी दिल्ली : कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हमले पर पलटवार करते हुए शुक्रवार को कहा कि ‘विदाई तय’ देखकर वह ‘झूठ बोल रहे हैं’, लेकिन इससे जनता पर कोई असर नहीं होने वाला है। पार्टी ने यह भी आरोप लगाया कि पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के ‘सकारात्मक प्रचार’ अभियान के जवाब में प्रधानमंत्री और भाजपा ने पूरी तरह नकारात्मक प्रचार अभियान चलाया। ‘जागरण फोरम’ में प्रधानमंत्री मोदी के संबोधन का उल्लेख करते हुए कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘प्रधानमंत्री जी ने एक बार झूठ बोला। उन्होंने झूठे आंकड़े रखे जिन्हें उनकी अपनी सरकार के आंकड़े झुठलाते हैं। इन चुनाव में हार तय देखकर भाजपा और प्रधानमंत्री घबराए हुए हैं।’’ उन्होंने दावा किया, ‘‘मोदी जी की विदाई तय है। बस चार दिन बचे हुए हैं। मोदी जी, अमित शाह और भाजपा चाहे जितना भी झूठ बोल लें, जनता पर कोई असर नहीं होने वाला है।’’

मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान, तेलंगाना और मिजोरम के विधानसभा चुनावों में कांग्रेस की जीत की उम्मीद जताते हुए सुरजेवाला ने कहा, ‘‘11 दिसंबर को देश में नया सवेरा होगा। नयी राजनीति की शुरुआत होगी। देश उस सकारात्मक राजनीति की तरफ बढ़ेगा जिसे राहुल गांधी और कांग्रेस ने आगे बढ़ाया है।’’ उन्होंने आरोप लगाया, ‘‘इन चुनावों में प्रधानमंत्री और भाजपा का प्रचार अभियान गाली-गलौज वाला और नकारात्मक था। इन्होंने भगवान को भी नहीं बख्शा। ये लोग हनुमान जी की जाति बताने लगे। जनता ने इनकी जातिवादी और विभाजनकारी राजनीति को खारिज कर दिया। लोगों ने कांग्रेस की सकारात्मक राजनीति को स्वीकार किया है।

दरअसल, प्रधानमंत्री मोदी ने शुक्रवार को कांग्रेस पर परोक्ष रूप से निशाना साधते हुए कहा कि अतीत में बड़े-बड़े लोग सत्ता में आए, बड़े-बड़े सरनेम :उपनाम: वाले लोग सत्ता में आए और चले गए लेकिन हम पिछड़े रह गए। उन्होंने कहा कि यह सब पहले इसलिए नहीं हुआ क्योंकि गरीबी कम हो जाएगी, तो ‘गरीबी हटाओ’ का नारा कैसे दे पाएंगे। जब देश के गरीब, शोषित और वंचितों को सारी मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध हो जायेंगी। उन्हें शौचालय, बिजली, बैंक खाते, गैस कनेक्शन जैसी चीजों की चिंताओं से मुक्ति मिल जाएगी, तो फिर देश के गरीब खुद ही अपनी गरीबी को परास्त कर देंगे।