धनशोधन मामला : ईडी के समक्ष पेश हुई मीसा भारती


नयी दिल्ली : राष्ट्रीय जनता दल की राज्यसभा सदस्या मीसा भारती 8,000 करोड़ रुपये के धनशोधन मामले की जांच के सिलसिले में आज यहां प्रवर्तन निदेशालय के समक्ष पेश हुयी। राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद की बेटी मीसा आज सुबह करीब 11 बजे केन्द्रीय जांच एजेंसी के क्षेत्रीय कार्यालय में मामले के जांच अधिकारी (आईओ) के समक्ष पेश हुयी।

अधिकारियों ने बताया कि मीसा को आज पेश होने के लिए कहा गया था। उनसे मिशैल प्रिंटर्स एंड पैकर्स प्राईवेट लिमिटेड और अन्य विथीय मामले में उनकी भूमिका तथा एजेंसी द्वारा पूर्व में गिरफ्तार किये गये एक सीए से उनके संबंधों के बारे में पूछताछ की जाएगी। मामले के सिलसिले में प्रवर्तन निदेशालय ने आठ जुलाई को मीसा और उनके पति शैलेश कुमार के दिल्ली स्थित फॉर्म हाउसों और कंपनी की तलाशी ली थी। उम्मीद की जा रही है कि इन मुद्दों को लेकर पूछताछ की जाएगी और धन शोधन निवारण रोकथाम अधिनियम (पीएमएलए) के अन्तर्गत उनका बयान दर्ज किया जाएगा। उनके पति शैलेश कुमार को भी कल समन जारी किया था लेकिन खबरों के मुताबिक वह उपस्थित नहीं हुये।

भ्रष्टाचार के जांच मामले में सीबीआई ने प्रसाद और उनके परिवार के कई ठिकानों पर छापेमारी की थी जिसके एक दिन के बाद ईडी ने पिछले सप्ताह छापेमारी की थी। दिल्ली स्थित दो व्यापारी बंधु सुरेन्द्र कुमार जैन और विरेन्द्र जैन और अन्य लोगों के खिलाफ एजेंसी द्वारा की जा रही जांच में 8,000 करोड़ रुपये के धनशोधन के संबंध में मीसा और उनके पति को हालिया समन जारी किया गया है। जैन बंधुओं सहित अन्य लोगों पर 90 से अधिक शेल कंपनियों का इस्तेमाल कर कई करोड़ रुपये के धन शोधन का आरोप है। ईडी पूर्व में पीएमएलए के अन्तर्गत जैन बंधुओं को गिरफ्तार कर चुकी है। गिरफ्तार किये गये दोनों व्यक्ति कंपनियों में से एक मिशैल प्रिंटर्स एंड पैकर्स प्राईवेट लिमिटेड से संबंद्ध रहे हैं। मीसा और उनके पति पर पूर्व में इस कंपनी के कथित रूप से निदेशक रहे हैं।