मीसा का फार्म हाउस जब्त करने की तैयारी में ईडी, शैलेश से फिर हो सकती है पूछताछ


नई दिल्ली: लालू यादव की बेटी मीसा भारती के लिए मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। सूत्रों के हवाले से ख़बर है कि अब प्रवर्तन निदेशालय मीसा और उनके पति शैलेश के दिल्ली के बिजवासन स्थित फार्म हाउस को जब्त करने की तैयारी में है।  मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट के तहत फार्म हाउस जब्त किया जाएगा, साथ ही शैलेश से फिर पूछताछ की तैयारी है।

गौरतलब है कि ईडी मीसा और शैलेश के जवाबों से संतुष्ट नहीं है।  यह फार्म हाउस शैल कंपनियों के जरिए आए धन से खरीदा गया था।   चार शैल कंपनियों के जरिए एक करोड़ 20 लाख रुपये आए थे।  इसी पैसे से यह खरीद हुई. ईडी ने मीसा और शैलेश के ठिकानों पर 8 जुलाई को भी छापेमारी की थी और दोनों से पूछताछ हुई थी।  वहीं मीसा के सीए राजेश अग्रवाल के खिलाफ ईडी आरोपपत्र दायर कर चुका है।  राजेश फिलहाल तिहाड़ जेल में है।


मामले की अगली सुनवाई 9 अगस्त को होगी
उल्लेखनीय है कि प्रवर्तन निदेशालयन (ईडी) ने शुक्रवार को लालू यादव की बेटी और राजद सांसद मीसा भारती के सीए राजेश अग्रवाल के खिलाफ धन शोधन मामले में पटियाला हाउस कोर्ट में चार्जशीट दाखिल किया है।  सूत्रों के अनुसार, आरोप-पत्र विशेष अदालत के न्यायाधीश नरेश कुमार मल्होत्रा की अदालत में दाखिल किए गए हैं. मामले की अगली सुनवाई 9 अगस्त को होगी।

22 मई को सीए राजेश अग्रवाल को गिरफ्तार किया गया था
ईडी ने सीए राजेश अग्रवाल, व्यवसायी भाइयों सुरेंद्र जैन व वीरेंद्र जैन और अन्य कंपनियों सहित 35 अभियुक्तों के खिलाफ आरोप-पत्र दाखिल किया है।  अग्रवाल पर जैन बंधुओं, सुरेंद्र जैन और वीरेंद्र जैन की मदद से संदिग्ध लेनदेन के जरिए काले धन को सफेद करने का आरोप है. ईडी ने जैन बंधुओं को 20 मार्च को गिरफ्तार किया था।  ईडी ने मई में इस मामले में अपना पहला आरोप-पत्र दायर किया था।  इसके बाद  22 मई को अग्रवाल को गिरफ्तार किया था।