नसीमुद्दीन सिद्दीकी और उनका बेटा बसपा से निष्कासित


लखनऊ : कभी बसपा मुखिया मायावती का दाहिना हाथ कहे जाने वाले पार्टी महासचिव नसीमुद्दीन सिद्दीकी को ‘भ्रष्टाचार’ और ‘पार्टी विरोधी गतिविधियों’ में संलिप्तता के आरोप में आज पार्टी से निकाल दिया गया। बसपा महासचिव एवं राज्यसभा सदस्य सतीश चन्द्र मिश्र ने यहां संवाददाता सम्मेलन में इस बात की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि नसीमुद्दीन ने चुनाव के दौरान लोगों से धन लिया।

पार्टी की जिम्मेदारियों का निर्वहन नहीं किया। पार्टी विरोधी गतिविधियों में लिप्त रहे और इन आरोपों पर पक्ष जानने के लिये बार-बार बुलाने पर भी नहीं आये। उन्होंने कहा कि बसपा में अनुशासनहीनता बर्दाश्त नहीं है, लिहाजा नसीमुद्दीन और उनके बेटे अफजल को पार्टी से निष्कासित कर दिया गया है।

मालूम हो कि बसपा की पिछली सरकार में बेहद ताकतवर मंत्री रहे नसीमुद्दीन मुख्यमंत्री मायावती का दायां हाथ माने जाते थे। उन पर मंत्री पद का दुरऊपयोग कर भ्रष्टाचार के भी बेहद गम्भीर आरोप लगे थे। नसीमुद्दीन विधान परिषद में विपक्ष के नेता भी रह चुके हैं।

–  (भाषा)