चीनी राजदूत से मुलाकात की खबरें फर्जी है : कांग्रेस


rahul gandhi

कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने भारत में चीन के राजदूत से मुलाकात संबंधी खबरों को ‘फर्जी’ बताया और इसे प्रसारित करने वाले चैनलों को ‘भक्त’ करार दिया है। कांग्रेस संचार विभाग के प्रमुख रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कुछ चैनलों में प्रसारित की जा रही इन खबरों को ‘फर्जी’ बताया है। उन्होंने ट्वीट किया कि ”भक्त चैनल तीन केंद्रीय मंत्रियों की चीन यात्रा या समूह 20 की बैठक में प्रधानमंत्री की संंबंधी खबरों पर सवाल उठाने की बजाए फर्जी खबर चला रह हैं।”

सुरजेवाला का यह बयान उन खबरों के बीच आया है जिसमें कहा गया है कि गांधी ने चीन के राजदूत लुओ झाओहुइ से कथितरूप से मुलाकात की है। कांग्रेस संचार विभाग के प्रमुख ने आरोप लगाया है कि इन खबरों को विदेश मंत्रालय तथा गुप्तचर ब्यूरो ने गढ़ा है। उन्होंने कहा कि ‘विदेश मंत्रालय तथा गुप्तचर ब्यूरो ने ‘भक्तों’ के साथ इन खबरों को तैयार करने से पहले यह पड़ताल भी नहीं की कि सभी पड़ोसियों के साथ हमारे संबंध बहुत अच्छे हैं।’

इस बीच कांग्रेस सोशल मीडिया विभाग की प्रमुख राम्या ने ट्वीट कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से सवाल किया कि उन्होंने जर्मनी के हैम्बर्ग में चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग से सीमा विवाद का मामला क्यों नहीं उठाया? उन्होंने आरोप लगाया ”भारतीय सीमा में चीनी घुसपैठ के बीच यह मुलाकात हुई है लेकिन कमजोर प्रधानमंत्री ने इस मुद्दे पर बातचीत करना भी उचित नहीं समझा।”

गौरतलब है कि भारत में चीन के दूतावास ने कल अपनी वेबसाइट पर एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा था कि चीनी राजदूत ने 8 जुलाई को यहां कांग्रेस उपाध्यक्ष से मुलाकात की और भारत और चीन के बीच वर्तमान संबंधों की स्थिति के बारे में चर्चा की। इस संबंध में राजनीतिक विवाद पैदा होने के बाद चीनी दूतावास ने इस विज्ञप्ति को वेबसाइट से हटा दिया है।