अरुणाचल-नगालैंड बाढ़ राहत के लिए केंद्र ने जारी किए 132 करोड़


नई दिल्ली, (भाषा): केन्द्र सरकार ने पूर्वाेत्तर राज्यों में बाढ़ के संकट की समीक्षा करने के बाद अरुणाचल प्रदेश और नगालैंड में वित्त वर्ष 2016-17 में बाढ़ और भूस्खलन से हुये नुकसान की भरपाई के लिये सहायता एवं राहत राशि के रूप में 132 करोड़ रुपये जारी करने की अनुशंसा कर दी है। केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह की अध्यक्षता में मंत्रालय की उच्च स्तरीय समिति की आज हुई बैठक में अरुणाचल प्रदेश के लिये 103.30 करोड़ रुपये जारी करने को मंजूरी दी गयी।

इसमें राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन कोष (एनडीआरएफ) द्वारा जारी किये गये 81.69 करोड़ रुपये और राष्ट्रीय ग्रामीण पेयजल कार्यक्रम (एनआरडीडब्ल्यूपी) के तहत 21.61 करोड़ रुपये भी शामिल हैं। समिति ने नगालैंड के लिये 28.60 करोड़ रुपये जारी करने की अनुमित दी है। इसमें एनडीआरएफ से 25.29 करोड़ रुपये और एनआरडीडब्ल्यूपी के तहत 2.71 करोड़ रुपये शामिल हैं।

बैठक में वित्त मंत्री अरुण जेटली, कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह, गृह सचिव राजीव महर्षि सहित मंत्रालय के अन्य अधिकारी भी शामिल थे। इधर असम के सीएम सर्वानंद सोनोवाल ने प्रधानमंत्री मोदी से मुलाकात की और उन्हें अपने राज्य में बाढ़ के हालात के बारे में जानकारी दी। सीएम ने पीएम को बताया कि बाढ़ की वजह से राज्य के 29 जिलों के 25 लाख लोग प्रभावित हुए हैं व 1,098 राहत शिविर और वितरण केंद्र बनाए हैं।

सोनोवाल ने कहा कि वैसे तो बाढ़ की भयावता कम हुई है, लेकिन 21 जिले अब भी बाढ़ की वजह से जलमग्न हैं और 60 लोगों की मौत हो गई है। उन्होंने प्रधानमंत्री से आग्रह किया कि राज्य में 5,000 किलोमीटर की दूरी तक सड़कों के विकास के लिए ‘प्रधानमंत्री बाढ़ एवं भूक्षरण नियंत्रण विशेष कार्यक्रमÓ शुरू किया जाए। प्रधानमंत्री मोदी ने सोनोवाल को विश्वास दिलाया कि केंद्र सरकार राज्य की मांगों पर सक्रियता से विचार करेगी।