अरुणाचल प्रदेश भाजपा इकाई ने पीपीए के साथ संबंध तोड़े


ईटानगर, (भाषा): भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की अरुणाचल प्रदेश इकाई ने नार्थ ईस्ट डेमोके्रटिक एलायंस (नेडा) के साझेदार, अरुणाचल पीपुल्स पार्टी (पीपीए) के साथ अपने संबंध समाप्त कर दिये हैं। पार्टी की प्रदेश इकाई के अध्यक्ष तापिर गाओ ने कल यहां पार्टी की राज्य कार्यकारिणी की बैठक के दौरान इस संबंध में घोषणा की। पार्टी ने आज यहां एक विज्ञप्ति में बताया कि नेडा के संयोजक हिमंत बिस्व शर्मा ने गाओ के पीपीए के साथ संबंध तोड़े जाने के फैसले की जानकारी भाजपा के केन्द्रीय नेताओं को दे दी है।

विज्ञप्ति में कहा गया- भाजपा पीपीए को विपक्षी पार्टी कांग्रेस के जैसा ही समझेगी। राज्य विधानसभा में भाजपा के 47 विधायक हैं और दो निर्दलीय विधायकों के समर्थन के साथ यह संख्या 49 हो जाती है। पीपीए के नौ विधायक हैं और कांग्रेस का एक विधायक है। पूर्वाेत्तर भारत में नागा पीपुल्स फ्रंट,सिक्किम डेमोक्रेटिक फ्रंट,अरुणाचल पीपुल्स पार्टी,असम गण परिषद और बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंट जैसी क्षेत्रीय राजनीतिक पार्टियों के साथ मिलकर भाजपा ने 24 मई 2016 को नेडा का गठन किया था। क्षेत्र के लोगों के हितों की रक्षा और पूर्वाेत्तर में गैर कांग्रेसी दलों को एकजुट करने के लिए नेडा का गठन किया गया था।