असम पुलिस ने पांच उग्रवादियों को किया गिरफ्तार


Assam Police

मेघालय के सलांग इलाके से प्रतिबंधित उग्रवादी संगठन तिवा लिबरेशन आर्मी (टीएलए) के स्वयंभू कमांडर समेत पांच उग्रवादियों तथा गारो नेशनल लिबरेशन आर्मी के तीन विद्रोहियों को गिरफ्तार किया गया है। मोरीगांव के पुलिस अधीक्षक स्वप्ननिल डेका ने संवाददाताओं को बताया कि मोरीगांव जिले से पुलिस दल और पड़ोसी राज्य मेघालय से सुरक्षाबलों ने एक खुफिया सूचना के आधार पर संयुक्त रूप से कल रात पांच उग्रवादियों को पकड़ा।

डेका ने बताया कि मेघालय के सलांग इलाके में हथियारों का प्रशिक्षण लेने के लिए दो उग्रवादी ठहरे हुए थे। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि टीएलए के स्वयंभू कमांडर मोतीलाल देवरी ने तिवा स्वायत्त परिषद के मुख्य कार्यकारी सदस्य (सीईएम) पबन मंटा को वसूली का पत्र भेजकर 50 लाख रुपये मांगे थे। उन्होंने बताया कि सीईएम की प्राथमिकी पर पुलिस ने उग्रवादियों के खिलाफ अभियान चलाया। गिरफ्तार पांच उग्रवादियों की पहचान मोतीलाल देवरी, टीएलए काडर सौरव डेका और मेघालय स्थित जीएनएलए उग्रवादी खसांग ए मारक, स्मार्ट ए मारक तथा अरवीन ए मारक के रूप में हुई है।