ईडी ने धन शोधन मामले में मैथ्यू सैमुअल को भेजा समन


कोलकाता: ईडी ने एक ‘स्टिंग’ ऑपरेशन से जुड़े धन शोधन की जांच के संबंध में नारद न्यूज के सीईओ मैथ्यू सैमुअल को समन जारी किया है। इस स्टिंग ऑपरेशन में सांसदों और मंत्रियों समेत तृणमूल कांग्रेस के कई नेता कैमरे में कथित तौर पर पैसे लेते हुए दिखाई दिए थे। अधिकारियों ने कहा कि सैमुअल से यहां साल्ट लेक इलाके में स्थित ईडी के कार्यालय में 18 मई को मामले के जांच अधिकारी के समक्ष पेश होने या अपने किसी अधिकृत प्रतिनिधि को भेजने के लिए कहा गया है।

उन्होंने कहा कि सैमुअल से अपने निजी वित्तीय दस्तावेज भी लाने के लिए कहा गया है जो समाचार चैनल और पिछले तीन वर्ष के आयकर रिटर्न से जुड़े दस्तावेज है। सैमुअल प्रवर्तन मामला सूचना रिपोर्ट (ईसीआईआर) में आरोपी नहीं है और ईडी उनसे स्टिंग के बारे में सूचना हासिल करने और जिन परिस्थितियों में स्टिंग किया गया, उसके बारे में पूछताछ करना चाहता है।

इससे पहले सीबीआई ने सैमुअल से इस मामले में पूछताछ की। सीबीआई कथित भ्रष्टाचार के आरोपों पर इस मामले की अलग से जांच कर रही है। एजेंसी ने सीबीआई की प्राथमिकी का अध्ययन करने के बाद धन शोधन निरोधक कानून (पीएमएलए) के प्रावधानों के तहत गत महीने इस मामले में एक आपराधिक शिकायत दायर की थी। ईडी इस मामले में इसकी जांच करेगा कि धन का स्रोत क्या है।

उन्होंने कहा कि सीबीआई की आपराधिक प्राथमिकी 12 तृणमूल नेताओं और एक आईपीएस अधिकारी के खिलाफ दर्ज की गई थी, जबकि ईडी की प्राथमिकी में 14 लोगों के नाम दर्ज है जिसमें सीबीआई की शिकायत में दर्ज 13 लोगों के खिलाफ एक अज्ञात व्यक्ति भी शामिल है।

यह स्टिंग ऑपरेशन तृणमूल नेताओं और आईपीएस अधिकारी से जुड़ा है जिसमें वह एक फर्जी कंपनी के प्रतिनिधियों से उसे लाभ पहुंचाने के लिए कथित तौर पर रऊपये लेते हुए दिख रहे हैं। तृणमूल कांग्रेस के जिन नेताओं के खिलाफ सीबीआई और ईडी ने प्राथमिकी दर्ज की है उनमें राज्यसभा सांसद मुकुल रॉय, लोकसभा सांसद सौगत रॉय, अपरूपा पोद्दार, सुल्तान अहमद, प्रसून बनर्जी और काकोली घोष दस्तीदार शामिल हैं।