जीजेएम कार्यकर्ताओं ने 10 वाहनों को किया आग के हवालें


दार्जिलिंग : पृथक गोरखालैंड की मांग को लेकर पश्चिम बंगाल के दार्जिलिंग हिल्स में गोरखा जनमुक्ति मोर्चा (जीजेएम) के आह्वान पर अनिश्चितकालीन बंद के आज 14वें दिन संदिग्ध गोरखा कार्यकर्ताओं ने राम्माम हाइडल प्रोजेक्ट के कम से कम 10 वाहनों में आग लगा दी और दार्जिलिंग हिल्स तथा सिलीगुड़ी के मैदानी इलाकों में गोरखालैंड समर्थकों और विरोधियों ने अलग अलग रैलियां निकाली।  इस बीच जीजेएम ने ईद के मद्देनजर कल यातायात के लिये 12 घंटे की ढील दी है। यह घटना दार्जिलिंग जिले के पुलबाजार पुलिस थाना क्षेत्र में हुई है।

                                                                                                  source

दार्जिलिंग के जिला मजिस्ट्रेट जॉयशी दासगुप्ता ने इस घटना की पुष्टि करते हुए कहा कि 10 वाहनों को जला दिया गया जबकि पुलबाजार पुलिस स्टेशन के ओसी भूषण शेरपा ने कहा कि चार वाहन पूरी तरह से जल गये जबकि चार अन्य आंशिक  रूप से जल गये। इस हाइडल पावर परियोजना की चार इकाइयों को जीजेएम के करीब 400 कार्यकर्ताओं ने जबरदस्ती बंद करा दिया।

                                                                                                   source

पुलिस अधिकारी अजीत सिंह यादव ने बताया कि संदिग्ध गोरखा कार्यकर्ताओं ने मोयरूंग बस्ती में पार्किंग में खड़े एक पुलिस वाहन में आग लगा दी। गोरखालैंड समर्थकों की रैली में गोरखाओं के लिये पृथक राज्य की मांग को लेकर जोरदार नारेबाजी की जबकि उत्तरी बंगाल के व्यापारिक नगरी सिलीगुड़ी में भी पृथक राज्य के विरोधी प्रदर्शनकारियों ने रैली निकाली और मानव श्रृंखला बनाई। पृथक राज्य के विरोध में सिलीगुड़ी में आयोजित रैली में शामिल एक महिला ने कहा हम संघर्ष नहीं शांति चाहते हैं। हम बंगाल को विभाजित नहीं होने देंगे और दार्जिलिंग हमेशा बंगाल में रहेगा।