तटबंधों की मरम्मत के लिए 100 करोड़ जारी करेगी सरकार


गुवाहाटी : हाल ही में आई बाढ़ के कारण राज्य के विश्वनाथ, धेमाजी, लखीमपुर और माजुली जिले में क्षतिग्रस्त हुए तटबंधों की मरम्मत के लिए राज्य सरकार शीघ्र ही 100 करोड़ की राशि जारी करेगी। इसके अलावा इन मरम्मत कार्यों को शीघ्र ही करने के लिए मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने जल संसाधन विभाग को निर्देश दिया है। मालूम हो कि मुख्यमंत्री सोनोवाल आज लखीमपुर जिले में बाढ़ से हुए नुकसान का जायजा लेने पहुंचे थे। इस दौरान उन्होंने कहा कि बाढ़ से प्रभावित हुए लोगों को राज्य सरकार हर तरह की सुरक्षा देगी।

उन्होंने कहा कि रंगा नदी पनबिजली परियोजना द्वारा पानी छोड़े जाने के मामले को राज्य सरकार गंभीरता से लेते हुए निपको प्रबंधन से बात कर रही है। बांधों के निर्माण में यदि कोई गड़बड़ी पाई जाती है तो जिम्मेदार अधिकारी के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी। बाढ़ प्रभावित इलाकों का निरीक्षण करने के बाद मुख्यमंत्री सोनोवाल ने लीलाबाड़ी हवाई अड्डे पर धेमाजी और लखीमपुर जिले में हुए नुकसान और इनकी भरपाई के लिए उठाए जाने वाले कदमों के विषय में एक बैठक की।

दोनों जिलों के जिला उपायुक्तों को शीघ्र ही हुए नुकसानों की रिपोर्ट सौंपने का निर्देश दिया। दूसरी ओर राज्य में करंट लगने से हो रही मौतों को गंभीरता से लेते हुए सोनोवाल ने एपीडीसीएल को शीघ्र ही पुराने तारों और खंभे को बदलने को कहा। उन्होंने कहा कि यदि कहीं कोई खुला ट्रांसफार्मर हो तो उसके चारों ओर सुरक्षा घेरा लगाया जाए। दौरे के दौरान मुख्यमंत्री के साथ जल संसाधन मंत्री केशव महंत, सांसद प्रदान बरुवा व कई नेता व प्रशासनिक अधिकारी उपस्थित थे।

दूसरी ओर आज की बैठक के बीच ही मुख्यमंत्री ने चराईदेव जिले के सोनारी में नगालैंड में हुई बारिश के चलते अचानक बाढ़ की स्थिति पैदा होने की भी सुध लेते हुए जिले के उपायुक्त को राहत एवं बचाव कार्य तेज करने का निर्देश दिया। लखीमपुर जिले के दौरे के बाद मुख्यमंत्री ने डेका फकीर मजार में जाकर सांसद निधि से निर्माण किए गए एक भवन का भी उद्घाटन किया।