वायुसेना के लापता हेलीकॉप्टर का मलबा दिखा


ईटानगर, (भाषा): अरुणाचल प्रदेश पुलिस की एक टीम ने आज एक गहरे नाले में भारतीय वायुसेना के लापता हेलीकॉप्टर का मलबा देखा। यह हेलीकॉप्टर कल राज्य के पापुम पारे जिले के सागली के पास लापता हो गया था । हालांकि, हेलीकॉप्टर पर सवार रहे तीन सदस्यीय चालक दल का अब तक कुछ पता नहीं चल सका है। एक शीर्ष पुलिस अधिकारी ने कहा कि बचाव टीमें चालक दल के सदस्यों की तलाश में इलाके का चप्पा-चप्पा छान रही हैं।

पुलिस महानिरीक्षक (कानून-व्यवस्था) नबीन पायेंग ने बताया कि एक पुलिस टीम ने जिले में चोपो योहा में एक पहाड़ की चोटी से हेलीकॉप्टर का मलबा देखा। न्योर्च नदी और एक झरने के संगम स्थल पर यह मलबा नजर आया। पायेंग ने कहा, ”चूंकि वह जगह गहरे नाले में है, इसलिए बचाव टीमों को वहां तक पहुंचने में वक्त लगेगा।” उन्होंने कहा कि चालक दल के सदस्यों के बारे में कुछ पता नहीं चल पाया है। पापुम पारे की पुलिस उपाधीक्षक (डीएसपी) नीलम नेगा की अगुवाई में गई पांच पुलिस टीमों में से एक टीम ने मलबे को देखा।

भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) ने अरुणाचल प्रदेश पुलिस और इंडिया रिजर्व बटालियन के साथ मिलकर सुबह से ही लापता हेलीकॉप्टर की तलाश में अभियान चला रखा था। बाढ़ पीडि़तों के बचाव के काम में जुटे भारतीय वायुसेना के एडवांस्ड लाइट हेलीकॉप्टर ने कल दोपहर लगभग तीन बजकर 50 मिनट पर सांगली के पास पिलपुटु से उड़ान भरी थी, लेकिन इसके कुछ ही देर बाद उससे संपर्क टूट गया। हेलीकॉप्टर बारिश की वजह से हुए भूस्खलन के कारण सागली और दामबुक में फंसे लोगों को वहां से निकालने के काम में लगा था।