हाथी के संरक्षण की खातिर जल्द समझौता करेंगे भारत-बंगलादेश


शिलांग, (भाषा) : हाथियों के संरक्षण तथा प्रबंधन को लेकर भारत और बंगलादेश जल्द एक समझौता करेंगे। दोनों देशों के वन तथा पर्यावरण विभाग के शीर्ष अधिकारियों ने आज यहां मुलाकात की और मानव तथा हाथी के बीच संघर्ष को खत्म करने के विषय पर चर्चा की। असम, मेघायल, पश्चिम बंगाल तथा त्रिपुरा के वन अधिकारी और बंगलादेश का 11 सदस्यीय एक दल दूसरी भारत-बंगलादेश चर्चा में शामिल हुए। चर्चा का विषय था सीमा पार हाथियों का संरक्षण।

इसमें विस्तार से चर्चा हुई कि अंतर्राष्ट्रीय सीमा के आरपार हाथियों की उन्मुक्त आवाजाही कैसे हो और उन्हें शिकारियों से कैसे बचाया जाए। बंगलादेश के मुख्य वन संरक्षक मोहम्मद शफील आलम चौधरी ने कहा , वर्ष 2015 में हाथियों की सीमा पार आवाजाही के लिए कामकाजी दिशा-निर्देश बनाने पर सहमति बनी थी और इसी को आगे बढ़ाते हुए बातचीत जारी है।

दोनों देशों के बीच प्रोटोकॉल अथवा समझौता पत्र पर हस्ताक्षर जल्द हो सकते हैं। भारत के वन महानिदेशक सिद्धांत दास ने कहा कि मानव और हाथी के बीच विवाद बढ़ता जा रहा है ऐसे में दिशा-निर्देशों की जरूरत है। इस विवाद के कारण हर वर्ष करीब 400 लोग मारे जाते हैं।