नगालैंड के मुख्यमंत्री ने मंत्रियों को विभाग बांटे


कोहिमा, (आईएएनएस): नगालैंड के मुख्यमंत्री टी.आर. जेलियांग ने सरकार में शामिल नए मंत्रियों को विभाग बांट दिए हैं, जबकि वित्त, कार्मिक और प्रशासनिक विभाग उन्होंने अपने पास रखे हैं। जेलियांग ने बुधवार देर शाम विभागों का बंटवारा किया। याथुंगो पैटन, जी. काइतो आये, किपीली सैंगटम को गृह विभाग मिले, बर्खास्त शुरहोजेली लिजित्सु की सरकार में वे राष्ट्रीय राजमार्ग, राजनीतकि मामलों और ऊर्जा विभाग के मंत्री थे।

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के महोनलुमो किकोन और इम्तिलेंबा संगतम को क्रमश: भू विज्ञान एवं खनन, सीमा मामले व सहयोग, राहत एवं पुनर्वास और ‘मार्कोफेड’ दिए गए। नगा पीपुल फ्रंट के वरिष्ठ विधायक ई.ई पेंगटिएंग को ग्रामीण विकास और नेइकिसेली निकी किरे को सड़क और सेतु विभाग दिए गए। केजोंग चांग को बागवानी, नेइबा क्रोनु को पर्यावरण, वन व जलवायु परिवर्तन से संबंधित कामकाज सौंपा गया।

इमकोंग एल. इमचेन को स्वास्थ्य व परिवार कल्याण और टोकेहो येपथोमी को विद्यालय शिक्षा और ससंदीय मामलों की जिम्मदारी दी गई। दो विधायकों को छोड़कर लगभग सभी मंत्री नगा पीपुल्स फ्रंट (एनपीएफ) से पार्टी के संविधान का उल्लंघन करने के आरोप में या तो निष्कासित कर दिए गए या उन्हें निलंबित कर दिया गया। एनपीएफ ने 19 को निष्कासित और 10 विधायकों को निलंबित किया।

पार्टी से निष्कासित विधायकों पैटन, सैंगटम, आयो, इमचेन और येपथोमी और निलंबित विधायक क्रोनु और चांग ने राज्य मंत्री के रूप में शपथ ली। विधानसभा में लीजित्सु के बहुमत साबित करने में नाकाम साबित होने पर राज्यपाल द्वारा उनकी सरकार को बर्खास्त कर दिया गया था, जिसके बाद बुधवार को जेलियांग द्वारा मुख्यमंत्री पद ग्रहण करने के बाद उन्हें एनपीएफ से छह सालों के लिए निष्कासित कर दिया गया।

जेलयिांग ने 60 सदस्यों वाले विधानसभा में 36 एनपीएफ, चार भाजपाऔर सात निर्दलीय विधायकों की मदद से 21 जुलाई को विश्वासमत जीता, वहीं एक सीट खाली रही। एनपीएफ के 10 और एक निर्दलीय विधायक ने उनके खिलाफ मतदान किया। विधानसभा में लीजित्सु मौजूद नहीं थे, क्योंकि वह उसके सदस्य नहीं हैं।